साक्षी महाराज के अल्पसंख्यक वाले बयान पर क्या बोले उलेमा... 

 

देवबंद: भाजपा सांसद साक्षी महाराज ने बीते दिनों उत्तर प्रदेश के बागपत में एक बड़ा बयान दिया था कि तत्काल प्रभाव से मुस्लिमों का अल्पसंख्यक दर्जा हो समाप्त होना चाहिए। भारत की जनसंख्या मुसलमानों की वजह से बढ़ गई है।साक्षी महाराज ने कहा था कि पाकिस्तान की कुल आबादी 20 करोड़ है और हिंदुस्तान में मुस्लिमों की आबादी 32 करोड़ है, जिसकी संख्या 32 करोड़ हो, वो कैसे अल्पसंख्यक हो सकते हैं। जब देश का बंटवारा हुआ था, तब इनकी संख्या 3 करोड़ और आज है 32 करोड़। इनकी बढ़ती आबादी के चलते भारत सरकार को 'हम दो हमारे दो या सबके दो' का कानून लाकर जनसंख्या नियंत्रण पर जोर देना चाहिए।

साक्षी महाराज के इस बयान पर देवबंदी उलेमा मौलाना लुत्फुर रहमान सादिक कासमी ने कहा है कि मुसलमानों का अल्पसंख्यक दर्जा खत्म कर दीजिए इससे हमें कोई फर्क नहीं पड़ता है उन्होंने कहा कि आज देखिए किसान सड़कों पर अपने हक की लड़ाई के लिए लड़ रहा है और यह लोग चाहते हैं कि हिंदुस्तान मुसलमान और पाकिस्तान इसी के नाम पर इनको लड़ा जाए इनका दिमाग खराब हो चुका है।

उलेमा मौलाना लुत्फुर रहमान सादिक कासमी कहा साक्षी महाराज हो या अन्य नेताओं जो भड़काऊ भाषण दे रहे हैं देते आ रहे है। मे  यह कहना चाहता हूं कि जो मुस्लिम अल्पसंख्यक दर्जा है उसको खत्म करना है कर दीजिए उससे मिलना क्या है आज तक हम इस बात पर अडेंगे कि मुस्लिम जो है अल्पसंख्यक दर्जा खत्म हो रहा है यह खत्म नहीं करना चाहिए इसमें कोई बहस नहीं है लिहाजा काम की तरफ क्या ध्यान दिया है। हमारा कहना यह है की बीजेपी सरकार का काम की तरफ किस तरह तवज्जो दे रही है आज किसान परेशान है।

सरकार का किसानों की तरफ कोई ध्यान नहीं है हिंदुस्तान के विकास की तरफ कोई ध्यान नहीं है वह बस इस में उलझे में है कि अल्पसंख्यक दर्जा खत्म कर दीजिए हिंदुस्तान, मुसलमान, पाकिस्तान, बस इसी में उझल करके लोग पागल हो गए है। इनका दिमाग इनका खराब हो चुका है यह लोग सड़कों पर उतरे हुए हैं कुछ ना कुछ मसला हल होगा किसान लोग अपनी बात पर अड़े हुए हैं और इनका हक इनको मिलना चाहिए और यह पूरी तरीके से अपना हक लेकर रहेंगे। 


 

From around the web