शाह के बयान पर TMC  का बड़ा पलटवार, अमित शाह को नहीं पता राजनीतिक इतिहास

 

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल चुनाव होने में तकरीबन 5 माह शेष है, उससे पहले ही बंगाल में जुबानी जंग तेज हो गई है। एक तरफ जहां गृह मंत्री अमित शाह ने टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी का इतिहास बताकर उनकी दुखती रक्त पर हाथ रख दी तो वहीं दूसरी तरफ टीएमसी सांसद कल्याण बनर्जी ने पलटवार कर पश्चिम बंगाल राजनीतिक मामले में अज्ञानी बताया है।

अमित शाह की रैली समाप्त होने के बाद टीएमसी सांसद कल्याण बनर्जी ने कहा कि सबसे भ्रष्ट पार्टी की जनसभा समाप्त हुई। जब अमित शाह ने बोलना शुरू किया तो हमने देखा कि मैदान आधा खाली था। लोगों को पता है कि वो सिर्फ झूठ बोलते हैं। उन्होंने कहा कि जब अमित शाह वंशवाद की बात करते हैं तो वो अधिकारी परिवार (शुभेंदु अधिकारी) को भूल जाते हैं। यही नहीं कैसे आपके (अमित शाह) बेटे को बीसीसीआई में एंट्री मिली।

टीएमसी सांसद ने कहा कि मैं ये भी साफ कर दूं कि ममता बनर्जी के परिवार का कोई भी सदस्य मुख्यमंत्री नहीं बनेगा। ये बंगाल की जनता है जो मुख्यमंत्री को चुनती है। कल्याण बनर्जी ने कहा कि सिर्फ किसानों के घर में खाना खाने से कोई किसान का नहीं हो जाता। बीजेपी दंगाइयों की पार्टी है।

टीएमसी सांसद ने कहा कि अमित शाह को बंगाल के राजनीतिक इतिहास के बारे में नहीं पता है। कांग्रेस से निकाले जाने के बाद ममता बनर्जी ने नई पार्टी बनाई थी। अमित शाह को नहीं पता कि ममता बनर्जी ने कांग्रेस नहीं छोड़ी थी। बता दें कि मिदनापुर में रैली को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा था कि ममता बनर्जी कहती हैं कि बीजेपी दूसरी पार्टियों से लोगों को लेती है। मैं ममता बनर्जी को उन दिनों की याद दिलाना चाहता हूं, जब वो कांग्रेस में थीं। उन्होंने कांग्रेस छोड़कर तृणमूल कांग्रेस बनाई तो वो दलबदल नहीं था क्या।

वहीं टीएमसी सांसद ने शुभेंदु अधिकारी पर निशाना साधते हुए कल्याण बनर्जी ने कहा कि अगर वो इतने ही बड़े नेता हैं तो वो 1996, 2001 और 2004 का चुनाव क्यों हारे। अधिकारी परिवार की साख क्या है। आज शुभेंदु अधिकारी अमित शाह के चरणों में गिर गए। पिछले एक दशक से ऐसा ही वो ममता बनर्जी के लिए कर रहे थे। गौरतलब है कि TMC  से बगावत कर शुभेंदु ने आज कमल का दामन थाम लिया, जिससे टीएमसी को बड़ा झटका लगा है।

From around the web