हाड़ कंपा देने वाली ठंड में जम गई नदी, मौसम विभाग ने किया इशारा

 

नई दिल्ली: उत्तर भारत में सर्दी का सितम लगातार जारी है, जिसे लेकर मौसम विभाग भी लगातार लोगों को सावधान कर रहे है और इस हाड़ कंपा देती ठंड में लापरवाही बरतने से बचने को कह रहे है। आपको बता दें कि पहाड़ों पर हुई बर्फबारी के कारण मैदानी इलाकों में ठंड बढ़ गई है। वहीं जम्मू कश्मीर तथा हिमाचल प्रदेश में अधिकतर स्थानों पर तापमान शून्य से नीचे चला गया है। बता दें कि देश की राजधानी दिल्ली में इस मौसम का सबसे कम तापमान दर्ज किया गया।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के मुताबिक दिल्ली में मौसम की सबसे सर्द सुबह रही और तापमान 3.4 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। आईएमडी के एक अधिकारी ने बताया कि, 'सफदरजंग वेधशाला में रविवार सुबह तापमान सामान्य से पांच डिग्री सेल्सियस नीचे 3.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है, जबकि अधिकतम तापमान 22 डिग्री सेल्सियस तक रहने की संभावना है।'

मौसम विभाग के अनुसार बर्फ से ढके पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र से चलने वाली बर्फीली हवाओं के कारण शहर में ठंड का प्रकोप बरकरार है। जिससे अगले पांच से छह दिन तक न्यूनतम तापमान करीब 5 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। कश्मीर में विभिन्न स्थानों पर न्यूनतम तापमान में रविवार को थोड़ा सुधार हुआ लेकिन घाटी में रात में पारा शून्य से नीचे बना हुआ है।

वहीं दूसरी तरफ लाहौल-स्पीति का प्रशासनिक केंद्र केलांग राज्य में सबसे ठंडा प्रदेश बना हुआ है जहां तापमान शून्य से 11 डिग्री सेल्सियस कम रिकॉर्ड किया गया। आपको बता दें कि केलांग, काल्पा, मनाली और मंडी में पिछले 24 घंटे में तापमान शून्य से नीचे रहा, इस वजह से घाटी के कई इलाकों में पानी की लाइनें, चंद्रभागा नदी समेत कई जलाशयों में पानी जम गया।

मौसम विज्ञान ने कहा कि इस महीने के अंत तक केंद्र शासित प्रदेश में भारी बर्फबारी का अनुमान नहीं है जबकि सोमवार को कश्मीर के कुछ स्थानों पर हल्की बर्फबारी हो सकती है। हिमाचल प्रदेश के पर्वतीय क्षेत्रों में बर्फीली हवाएं चल रही हैं और कई स्थानों पर तापमान शून्य से नीचे चला गया है।

From around the web