सुप्रीम कोर्ट का दिल्ली सरकार को बड़ी राहत, माता-पिता को लगा बड़ा झटका

 

नई दिल्ली : देश में जारी कोरोना काल के दौरान सभी स्कूल और कॉलेजों को बंद कर दिया गया था, जिससे बच्चे इस महामारी से सुरक्षित रह सकें। वहीं देश में लॉकडाउन भी लगा दिया गया था, जिससे कई कंपनियां बंद हो गई, वहीं कई लोग बेरोजगार भी हो गये। बेरोजगारी का आलम इस कदर बढ़ गया कि लोग प्रदेश को छोड़कर अपने देश को जानें लगे। हालांकि इस दौरान बच्चों का पठन-पाठन ऑनलाइन चलता रहा, जिससे उनका सिलेबस पीछे ना रह जाएं।

हालांकि देश में बढ़ते बेरोजगारी और कंपनीयों द्वारा पूरी सैलरी ना देने के कारण माता-पिता के सामने कई समस्याएं खड़ी हो गई कि वे इतने कम सैलरी में अपना घर परिवार और बच्चों की पढ़ाई को सुचारू रूप से कैसे चला पाएंगे। अपने इन्हीं समस्याओं को लेकर परिजनों ने सुप्रीम कोर्ट की ओर रूख किया और CBSE और दिल्ली सरकार से फीस माफ करवाने की अपील की।


आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने परिजनों की इस याचिका को खारिज कर दिया है, जिससे उन्हें बड़ा झटका लगा है। बता दें कि SC के इस आदेश से परिजनों में काफी निराशा है। क्योंकि अब उन्हें वर्तमान शैक्षणिक वर्ष में कक्षा 10वीं और 12 वीं के छात्रों का फीस देना पड़ेगा।

From around the web