आज रात से देश के कई शहरों में लग जाएंगे कठोर नियम, दिल्ली-मुंबई सहित...

 

नई दिल्ली : साल 2020 अपने आखिरी चरण में है, जिसे लेकर हर कोई यहीं दुआ कर रहा है कि जल्द ही यह साल गुजर जाये। क्योंकि इस साल ने कोरोना, बेरोजगारी, देश की आर्थिक हालत जैसे कई समस्याओं को देश के सामने ला खड़ा कर दिया, जिससे आज देश की आर्थिक व्यवस्था बहुत ही चरमरा गई। आपको बता दें कि आने वाले नये साल यानी 2021 को लेकर केंद्र सरकार और राज्य सरकार ने कई तरह के दिशानर्देश जारी किये है। जिसमें दिल्ली, मुंबई, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, कर्नाटक, छत्तीसगढ़, बिहार, मध्य प्रदेश जैसे राज्य शामिल है।

दिल्ली में लगा पाबंदी, 7 घंटे का नाइट कर्फ्यू

31 दिसंबर और 1 जनवरी की रात 11 बजे से सुबह 6 बजे तक दिल्ली में नाइट कर्फ्यू रहेगा। पब्लिक प्लेस पर 5 लोगों से ज्यादा भीड़ इकठ्ठी नहीं हो सकती। नए साल के किसी भी जश्न और सेलिब्रेशन या प्रोग्राम की इजाजत नहीं होगी। लाईसेंसी प्लेस पब्लिक प्लेस के दायरे में नहीं आएंगे। आपको बता दें कि डीडीएमए ने कोविड को देखते हुए नए साल के जश्न को लेकर होने वाली भीड़ के कारण ये निर्देश जारी किया है।

मुंबई में जगह-जगह नाकाबंदी

मुंबई पुलिस ने नए साल के चलते जगह-जगह शहर में नाकाबंदी कर रखी है। गाड़ियों की चेकिंग की जा रही है। 31 दिसंबर के मद्देनजर पुलिस ने विशेष गाइडलाइंस जारी करते हुए कहा कि सार्वजनिक जगहों पर भीड़ इकट्ठा नहीं हो सकती, एक गाड़ी में चार से ज्यादा लोग सफर नहीं कर सकते हैं, मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना अनिवार्य है, रात 11 से 6 बजे के तक होटल पब बार सब बंद रखे जाएंगे, पटाखे फोड़ने पर पाबंदी है, लाउडस्पीकर और डीजे सीमित डेसिबल में बजाने की ही अनुमति है। पुलिस ड्रोन कैमरे के जरिये सभी इलाकों पर नजर रखेगी।

यूपी में लगी नये साल पर रोक

नए साल पर कार्यक्रम में योगी सरकार ने 100 से ज्यादा लोगों के शामिल होने पर रोक लगाई है। नए साल पर कार्यक्रम के लिए पुलिस-प्रशासन से भी इसकी इजाजत लेनी होगी। कार्यक्रम की मंजूरी मिलने के बाद कोविड नियमों का पालन भी करना होगा। दिशा-निर्देश में कहा गया कि खुली जगह पर आयोजन होने की स्थिति में क्षमता के 40 प्रतिशत लोग ही इकट्ठा हो सकेंगे। आयोजनकर्ता को कार्यक्रम में कोरोना से बचाव के लिए सभी इंतजाम करने होंगे. कोविड नियमों का पालन नहीं करने पर आयोजनकर्ता पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

एहतियात के साथ पटना में पार्टी का इंतजाम

न्यू ईयर को लेकर पटना में राज्य प्रशासन ने कोई अलग से दिशा-निर्देश जारी नहीं की हैं। केंद्र की गाइडलाइन का पालन करने का आदेश दिया है। 200 से ज्यादा लोगों को इकट्ठा नहीं होना है, होटल में उसी तरह से तैयारियां की जा रहीं हैं। न्यू ईयर पार्टी का इंतजाम तो है मगर एहतियात के साथ।

महाबलेश्वर में लगाई गई 31 दिसंबर की रात आयोजन पर पाबंदी

महाराष्ट्र में नए साल का जश्न मनाने के लिए महाबलेश्वर और पंचगनी पहाड़ी पर्यटन केंद्रों पर लोगों के पहुंचने के बीच प्रशासन ने 31 दिसंबर को रात 10 बजे के बाद सभी कार्यक्रमों के आयोजन पर पाबंदी लगा दी है। यहां धारा 144 लगाते हुए चार से अधिक व्यक्तियों के एक जगह इकट्ठा होने पर रोक लगा दी है। सातारा जिले में पहाड़ी पर्यटन केंद्रों पर नव वर्ष की पूर्व संध्या पर होटलों, रेस्तरांओं और ढाबों को रात ग्यारह बजे के बाद संचालित करने की अनुमति नहीं होगी। हालांकि, राष्ट्रीय राजमार्गों पर स्थित होटलों, रेस्तारांओं और ढाबों को उससे छूट दी गयी है।

नए साल की पूर्व संध्या पर बेंगलुरु में जश्न मनाने पर प्रतिबंध

कर्नाटक सरकार ने राज्य की राजधानी में 31 दिसंबर की रात और 1 जनवरी की सुबह पार्टियों के आयोजन पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की है। एक आदेश में बेंगलुरु के पुलिस आयुक्त कमल पंत ने कहा कि 31 दिसंबर को शाम 6 बजे से सुबह 6 बजे तक शहरभर में सार्वजनिक स्थानों पर 5 से अधिक लोगों के एकत्र होने पर धारा 144 के तहत 12 घंटे का प्रतिबंध रहेगा। हालांकि, यह आदेश ग्राहकों को अग्रिम बुकिंग के साथ छूट देता है, ताकि कोविड संबंधी दिशा-निर्देशों के तहत शहरभर में पब, बार और रेस्तरां में नए साल की पूर्व संध्या का जश्न मनाया जा सके, मगर फेसमास्क और शारीरिक दूरी बनाए रखने के साथ।

गोवा में नववर्ष जश्न के फीका रहने के आसार

गोवा में नए साल का जश्न मनाने के लिए लाखों पर्यटक आए हैं। गोवा के बीच पर बडी संख्या में देसी सैलानी आए है लेकिन इनमें से मास्क पहने बहुत कम लोग आते हैं। सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन नहीं किया जाता है। पुलिस और लाइफगार्ड निर्देश देने के बावजूद पर्यटक सुनने के मूड में नहीं हैं। 31 दिसंबर का जश्न मनाने के लिए इस साल बड़ी संख्या में घरेलू पर्यटक गोवा पहुंचे हैं। इस साल विदेशी पर्यटक गोवा नहीं आ सके हैं क्योंकि चार्टर उड़ानें शुरू नहीं हुई हैं। 31 दिसंबर के लिए, तटीय होटलों और शैक में कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे है।

छत्तीसगढ़ : कार्यक्रमों का आयोजन खुले स्थान में नहीं किए जा सकेगा

कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए छत्तीसगढ़ में नए वर्ष के दौरान कार्यक्रमों का आयोजन खुले स्थान में नहीं किया जा सकेगा। दिशानिर्देश में कहा गया है कि 31 दिसंबर को नववर्ष स्वागत के लिए कार्यक्रम का आयोजन खुले और सार्वजनिक स्थान में न किया जाए। निर्देश के अनुसार कार्यक्रम के दौरान किसी प्रकार के जुलूस, सभा, रैली, सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया जाए। कार्यक्रम में आयोजन स्थल की क्षमता का 50 प्रतिशत अथवा अधिकतम 200 व्यक्ति ही सम्मिलित हों। कार्यक्रम का आयोजन रात्रि 12.30 बजे तक समाप्त किया जाए।

इंदौर में नौजवानों को शराब नहीं बेचने की चेतावनी

इंदौर जिला प्रशासन ने 21 साल से कम उम्र के लोगों को शराब बिक्री रोकने के कानूनी प्रावधान को सख्ती से लागू करने की तैयारी कर ली है। सहायक आबकारी आयुक्त राजनारायण सोनी ने बताया कि मध्यप्रदेश आबकारी अधिनियम, 1915 के प्रावधानों के मुताबिक 21 साल से कम उम्र के लोगों को लाइसेंसी दुकानों से देशी-विदेशी शराब या अंगूर से बनी मदिरा न तो बेची जा सकती है, न ही उन्हें यह नशीला पदार्थ परोसा जा सकता है।

राजस्‍थान के शहरों में रात 8 बजे से सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू

राजस्‍थान में आज की रात को सभी प्रमुख कस्‍बों और शहरों में नाइट कर्फ्यू रहेगा। इसके साथ ही राज्‍य सरकार ने नववर्ष की पूर्व संध्या पर होने वाले सभी समारोहों पर रोक लगा दी है। राज्य के सभी शहर जिनकी आबादी एक लाख से अधिक है वहां नववर्ष की पूर्व संध्या को रात आठ बजे से अगले दिन यानी एक जनवरी 2021 की सुबह 6 बजे तक रात्रि कर्फ्यू रहेगा। यही नहीं इन इलाकों में सारे बाजार शाम सात बजे बंद कर दिए जाएंगे। आतिशबाजी करने और पटाखे बेचने पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। इसके साथ ही नववर्ष की पूर्व संध्या पर किए जाने वाले सभी समारोहों या लोगों के इकट्ठा होने को पर भी पूर्ण प्रतिबंध रहेगा।

भुवनेश्वर में इस बार नये साल के जश्न पर पाबंदी

भुवनेश्वर नगर निगम (बीएमसी) ने परामर्श जारी कर कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिए सार्वजनिक स्थानों पर नए साल का जश्न मनाने पर पाबंदी लगा दी है। बीएमसी ने अपने आदेश में कहा है कि इस बार होटलों, क्लबों, सभागारों और मंडपों में नये साल का जश्न मनाने की इजाजत नहीं होगी। निगम ने कहा कि किसी भी अन्य स्थान पर नये साल के लिए बड़ी भीड़ जुटने की अनुमति नहीं होगी।

नए साल के जश्न पर कोलकाता में पाबंदी नहीं

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में नए साल के जश्न पर कोई पाबंदी नहीं है। लेकिन कोविड-19 के प्रोटोकॉल के तहत सख्ती बरती जा रही है। सभी स्थानों पर में कोविड के दिशानिर्देश का पालन कराया जा रहा है। किसी तरह के नाइट कर्फ्यू की घोषणा नहीं की गई है। हालांकि यहां किसी बड़े जलसे या कार्यक्रम की इजाजत नहीं है। नए साल की पूर्व संध्या पर कोलकाता की सड़कों पर कई हजार पुलिसकर्मी तैनात रहेंगे।

भोपाल पुलिस की पैनी नजर

नए साल के जश्न पर भोपाल डीआईजी इरशाद वली ने कहा कि जश्न के मौके पर पुलिस की पैनी नजर रहेगी। अराजकता फैलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। मोहल्ला, कॉलोनी, गली में डीजे बजने पर रहेगी रोक। 2 हजार की संख्या में पुलिस बल रहेगा तैनात। बार, पब या किसी पार्टी में लड़कियों महिलाओं के साथ हुई छेड़छानी तो आयोजकों पर भी होगी कार्यवाई। शराब पीकर वाहन चलाने वालों के खिलाफ भी होगी सख्त कार्यवाई। शहरभर में लगाए जायेंगे चेकिंग पॉइंट तेज वाहन चलाने वालों के खिलाफ भी होगी कार्यवाई।

From around the web