वैवाहिक विवादों को लेकर SC ने जारी किया गाइडलाइन, हाईकोर्ट को भी करना होगा अमल

 

नई दिल्ली : वैवाहिक विवादों को लेकर आपने देश में ऐसे कई मामले देखें और सुने होंगे जिसे लेकर लोगों को कोर्ट और कचहरी के चक्कर लगाने पड़ते है। और ये मामला बहुत लंबा खिंच जाता है। जब तक इस मामले में कोर्ट द्वारा फैसला आता हैं, तब तक इतना विलंब हो जाता हैं की फैसला आने के बाद भी वो खुश नहीं दिखते और कानून की लचर व्यवस्था को कोसते नजर आते है।   

आपको बता दें कि इन सारे विवादों पर गौर करने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने एक विस्तृत गाइडलाइन जारी की हैं। जिससे अब वैवाहिक विवाद मामले में जाने के बाद दोनों पक्षकारों को अपनी आमदनी के स्रोत और पूरा ब्योरा देना होगा। इसके बाद ही कोर्ट द्वारा गुजारा भत्ता की रकम तय की जाएगी.। कोर्ट ने अपने फैसले में ये भी ताकीद की है कि हाईकोर्ट को भी ऐसे मामलों पर अमल करने होंगे।

आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस इंदु मलहोत्रा और जस्टिस सुभाष रेड्डी की पीठ ने अपने इस अहम फैसले में विस्तार से गाइडलाइन के विभिन्न पहलुओं को बताया है। इसके साथ ही उन्होंने अंतरिम गुजारा भत्ता की रकम अवधि और अन्य पहलुओं पर भी स्थिति स्पष्ट कर दी है।

From around the web