मोदी सरकार पर राहुल गांधी का तंज- सरकारी कर्मियों की हालत पस्त, पूंजीपति मित्रमुनाफ़ा कमाने में मस्त!

 

रिपोर्ट- रितिका आर्या

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने महंगाई दर बढ़ाने को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा, ''खाद्य पदार्थ का महंगाई दर 11.1% पार! लेकिन मोदी सरकार सेंट्रल PSU कर्मचारियों का DA बढ़ाने की बजाय फ्रीज कर रही है. सरकारी कर्मचारियों की हालत पस्त, पूंजीपति ‘मित्र’ मुनाफ़ा कमाने में मस्त!''

गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए राहुल गांधी ने ट्वीट किया था, उन्होंने अपने ट्वीट में चार्ट शेयर करते हुए लिखा था कि ये मोदी सरकार का रिपोर्ट कार्ड है। देश में कोरोना मृत्यु दर में सबसे आगे हैं। जीडीपी दर में सबसे पीछे है। इससे पहले राहुल गांधी ने कहा था कि बैंक मुसीबत में हैं और जीडीपी भी। यह विकास है या विनाश?

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने जो चार्ट शेयर किया था, उसमें भारत की जीडीपी -10.3 फीसदी थी, पाकिस्तान की जीडीपी 0.4 फीसदी है। जीडीपी ग्रोथ में नंबर वन पर है, जिसकी जीडीपी का ग्रोथ रेट 3.8 फिसदी है। इसके बाद म्यामांर की जीडीपी ग्रोथ रेट 2.0 फीसदी, चीन की जीडीपी ग्रोथ रेट 1.9 फीसदी है।

बता दें कि 19 नवंबर को सरकार ने केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यमों (CPSE) के कर्मचारियों के लिए महंगाई भत्ते में होने वाली वृद्धि पर 30 जून 2021 तक रोक लगा दी है। कांग्रेस ने आरोप लगाया कि सरकार की ओर से लगाई गई इस रोक का असर 339 केंद्रीय सार्वजनिक उपक्रमों के 14.5 लाख से अधिक कर्मचारियों पर पड़ेगा।

From around the web