राहुल गांधी का पीएम मोदी पर निशाना, बोले-...अगर हमारी सरकार सत्ता में होती तो 15 मिनट में चीन को बाहर फेंक देते

 

रिपोर्ट- रितिका आर्या

नए कृर्षि कानून और हाथरस मामले को लेकर विपक्षी पार्टी कांग्रेस पहले से ही मोदी सरकार पर हमलवार है तो वहीं अब चीन के सहारे कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सरकार को निशाने पर लिया है। चीन मुद्दे पर सरकार को घेरते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने देश के प्रधानमंत्री नरंद्रे मोदी पर बड़ा वार करते हुए उन्हें कायर बताया साथ ही कहा की अगर हम सत्ता में होते तो हमारी सेना 15 मिनट में चीन की सेना को बाहर फेंक देती.

हरियाणा में एक जनसभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा, ''मैं गारंटी के साथ बोल रहा हूं. चीन में इतना दम नहीं था कि हमारे देश के अंदर एक कदम डाल दे. दुनिया में एक मात्र देश है जिसके अंदर उसकी सेना आई और 1200 स्कॉयर किलोमीटर जमीन ले गई और कायर प्रधानमंत्री कहते हैं इस देश की जमीन किसी ने नहीं ली. और खुद को अपने आपको देशभक्त कहते हैं.''

उन्होंने कहा, ''पूरा देश जानता है कि चीन की सेना हमारी सीमा में आई. हमारी सरकार होती तो चीन को उठाकर फेंक देते. 15 मिनट नहीं लगते, हमारी सेना, वायुसेना दो किलोमीटर पीछे धकेल देती. प्रधानमंत्री देश की शक्ति को नहीं समझते हैं.''

कृषि कानून पर सरकार को घेरा

अपनी ‘‘खेती बचाओ यात्रा’’ के समापन पर शाम को राहुल गांधी ने पिहोवा में कहा कि जब केन्द्र में कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार आएगी तो वह कृषि कानूनों को वापस ले लेगी और इन्हें ‘‘कचरे के डिब्बे’’ में फेंक देगी।

उन्होंने कहा, ‘‘हम आपको आश्वस्त करना चाहते हैं. हम आपके साथ हैं और हम एक इंच पीछे नहीं हटेंगे. केवल हरियाणा या पंजाब में ही नहीं बल्कि पूरे देश में पूरी कांग्रेस आपके पीछे खड़ी है. जब हमारी सरकार बनेगी तो हम इन कानूनों को रद्द कर देंगे और इन्हें कूड़े के डिब्बे में फेंक देंगे.’’

आपको बता दें, रविवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पंजाब के मोगा जिले से ‘‘खेती बचाओ यात्रा’’ शुरू की थी। राहुल पंजाब के पटियाला जिले से अपनी ‘ट्रैक्टर रैली’ के बाद यहां पहुंचे। उन्होंने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा की किसान समझते हैं कि मोदी कुछ "चुनिंदा" व्यापारिक घरानों के लिए "रास्ता साफ कर रहे हैं" क्योंकि किसान, श्रमिक ‘‘मोदी की वो मार्केटिंग नहीं कर सकते, जो ये कॉरपोरेट कर सकते हैं.’’

उन्होंने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री देश के किसान को नहीं जानते है. मोदी जी, अगर आपको लगता है कि किसान खड़े नहीं हो सकते और अपनी आवाज नहीं उठा सकते, तो आप गलत हैं. भारतीय किसान किसी से नहीं डरता. वह जानता है कि कैसे लड़ना है, वह एक इंच पीछे नहीं हटेगा.’’

गांधी ने कहा, ‘‘लेकिन हमारी सरकार बनने से पहले, हम संघर्ष जारी रखेंगे और किसानों की आवाज उठाएंगे और साथ में हम इन कानूनों का विरोध करेंगे.’’

लेकिन सवाल आखिर में ये उठता है की यही कांग्रेस पार्टी जो आज मोदी सरकार की नीतियों को लेकर सवाल उठा रही है। जब सत्ता पर थी तो भी ऐसी घटना हुई थी जिससे पूरे देश में उबाल गया था। उस वक्त जम्मू -कश्मीर में एलओसी के पास कृष्णा घाटी में मथुरा निवासी सेना के लांस नायक हेमराज शहीद हो गए थे। इतना ही नहीं पाकिस्तानी फौज ने उनके साथ एक और जवान सुधाकर सिंह का सिर कलम करते हुए उन्हें क्षतीग्रस्त कर दिया था। उस वक्त ये सरकार चुप क्यों थी।

From around the web