आधे घंटे बाद ही हिरासत से रिहा हुए प्रियंका गांधी समेत अन्य कांग्रेसी नेता, राष्ट्रपति को सौंपा ज्ञापन

 

नई दिल्ली : कृषि कानून को लेकर कांग्रेसी नेताओं द्वारा मार्च निकाले जाने के बाद उन्हें हिरासत में ले लिया गया था, जिसमें कांग्रेस उपाध्यक्ष प्रियंका गांधी समेत कई कांग्रेस नेता शामिल थे। हालांकि इन सभी को तकरीबन आधे घंटे मंदिर मार्ग थाने में हिरासत में रखने के बाद छोड़ दिया गया। आपको बता दें कि राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस नेता कृषि कानूनों के खिलाफ राष्ट्रपति को 2 करोड़ हस्ताक्षर का ज्ञापन सौंप दिया है।

गौरतलब है कि कांग्रेस द्वारा मार्च निकाले जाने की अनुमति ना मिलने के बाद सिर्फ कांग्रेस नेता राहुल गांधी और दो नेताओं को ही राष्ट्रपति भवन जाने की अनुमति मिली थी। इसके साथ ही, कांग्रेस दफ्तर के आसपास दिल्ली पुलिस ने धारा 144 लगा दी।

गिरफ्तारी से पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि जवान किसान का बेटा होता है, जो किसानों की आवाज ठुकरा रहा है, अपनी जिद्द पर अड़ा हुआ है जबकि देश का अन्नदाता बाहर ठंड में बैठा है तो उस सरकार के दिल में क्या जवान, किसान के लिए आदर है या सिर्फ अपनी राजनीति, अपने पूंजीपति मित्रों का आदर है?

उन्होंने कहा कि बीजेपी की सरकार किसानों के पेट पर लात मार रही है और हमारा कर्तव्य है कि हम किसानों के साथ खड़े रहें इसलिए हम लोग अपना कर्तव्य निभाएंगे।

From around the web