पीएम नरेंद्र मोदी ने बताया डबल इंजन की सरकार क्यों जरुरी...

 

रिपोर्ट : सौरभ सिंह 

नई दिल्ली : भारत और बांग्लादेश के बीच मैत्री संबंधों को मजबूत करते हुए भारत और बांग्लादेश के बीच त्रिपुरा राज्य की फेनी नदी पर पुल का निर्माण किया गया है।  इस पुल का नाम रखा गया मैत्री सेतु जिसका भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उद्घाटन किया। उद्घाटन कार्यक्रम में बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना भी शामिल थी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने त्रिपुरा के लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आज से 3 साल पहले आप लोगों ने एक नया इतिहास रजत और पूरे देश को एक मजबूत संदेश भी दिया था साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि राज्य के विकास को रोकने वाली नकारात्मक शक्तियों को हटाकर त्रिपुरा के लोगों ने एक नई शुरुआत की थी। 


इसके साथ ही पीएम मोदी ने इशारों इशारों में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा कि जहां डबल इंजन की सरकार नहीं है वहां का हाल सभी को पता है आपके पड़ोस में ही गरीबों किसानों बेटियों को सशक्त करने वाली योजनाएं या तो लागू नहीं की गई या बहुत धीमी गति से चल रही है। डबल इंजन वाली सरकार का सबसे बड़ा असर गरीबों को पक्के घर देने में दिख रहा है।

पीएम ने कहा कि आज त्रिपुरा पुरानी सरकार के 30 साल और डबल इंजन की 3 साल की सरकार में आए बदलाव को स्पष्ट अनुभव कर रहा है। जहां कमीशन और भ्रष्टाचार के बिना काम होने मुश्किल थे, वहां आज सरकारी लाभ लोगों के बैंक खाते में डायरेक्ट पहुंच रहा है।पीएम मोदी ने कहा जिस त्रिपुरा को हड़ताल कल्चर ने बरसों पीछे कर दिया था, आज वो 'ईज ऑफ डुइंग बिजनेस' के लिए काम कर रहा है। जहां कभी उद्योगों में ताले लगने की नौबत आ गई थी, वहां अब नए उद्योगों, नए निवेश के लिए जगह बन रही है।
 

मैत्री सेतु .. 
फेनी नदी पर बना मैत्री सेतु दक्षिण त्रिपुरा को बांग्लादेश के रामगढ़ से जोड़ेगा। 1.9 किलोमीटर लंबे इस पुल का निर्माण 2017 में शुरू किया गया था। इसका निर्माण दो साल में होना था, लेकिन कोरोना के कारण इसमें विलंब हुआ। इसके जरिए बांग्लादेश के चटगांव बंदरगाह जाना सुगम होगा। इस पुल के निर्माण की देखरेख राष्ट्रीय राजमार्ग आधारभूत सरंचना विकास निगम लिमिटेड द्वारा की गई है।  

From around the web