7 बागी विधायकों को बाहर का रास्ता दिखाने के बाद BJP के समर्थन को तैयार हुई मायावती

 

रिपोर्ट- रितिका आर्या

चुनाव के बीच बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) ने राज्यसभा चुनाव में बगावत करने वाले सात विधायकों को निलंबित कर दिया है। बागी विधायकों के निलंबन का ऐलान बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने किया है। इसके साथ ही मायावती ने कहा है कि एमएलसी के चुनाव में बसपा जैसे को तैसा का जवाब देने के लिए अपनी पूरी ताकत लगा देगी। माया ने कहा कि अगर उन्हें बीजेपी को वोट देना पड़ेगा तो भी देंगे।  

इन लोगों को किया गया निलंबित

जिन विधायको को बीएसपी ने से निलंबित किया है उनमें असलम राइनी ( भिनगा-श्रावस्ती), असलम अली (ढोलाना-हापुड़), मुजतबा सिद्दीकी (प्रतापपुर-इलाहाबाद), हाकिम लाल बिंद (हांडिया- प्रयागराज) , हरगोविंद भार्गव (सिधौली-सीतापुर), सुषमा पटेल( मुंगरा बादशाहपुर) और वंदना सिंह -(सगड़ी-आजमगढ़) शामिल है।

सपा को हराने के लिए लगाएंगे जोर- मायावती

बसपा सुप्रीमों ने कहा कि एमएलसी के चुनाव में सपा को मात देने के लिए उन्हें जो भी करना पड़ेगा वो करने के लिए तैयार है। माया ने कहा कि चुनाव में सपा को हराने के लिए वो वोट देने तक को तैयार है। इसके आगे मायावती ने कहा कि साल 1995 के केस को वापस लेना हमारी सबसे बड़ी गलती थी।

अखिलेश यादव पर निशाना साधा

अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए मायावती ने कहा कि अगर अखिलेश यादव राज्यसभा चुनाव में अपनी पत्नी डिंपल यादव को मौका दे रहे हैं, तो बसपा उनका समर्थन करने के लिए तैयार है।  

बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने कहा कि मेरी पार्टी ने फैसला किया था कि अगर अखिलेश यादव राज्यसभा चुनाव में अपनी पत्नी डिंपल यादव को मौका दे रहे हैं, तो बसपा उनका समर्थन करने के लिए तैयार है. सतीश चंद्र मिश्रा ने सपा नेता से संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन उन्होंने अपना फोन नहीं उठाया और राज्य के सभी ब्राह्मण समुदाय के लोगों का अपमान है.

बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने कहा कि सभी जानते हैं कि सपा शासन के दौरान माफिया, गुंडे राज्यों पर कैसे राज करते हैं. वे फिर से लोगों को बेवकूफ बनाने की कोशिश कर रहे हैं. गौरतलब है कि राज्यसभा चुनाव के दौरान बसपा के सात विधायक बागी हो गए हैं. माना जा रहा है कि सभी बागी विधायक जल्द ही सपा ज्वॉइन कर सकते हैं. इनकी मुलाकात अखिलेश यादव से हो चुकी है.

From around the web