गृहमंत्री अमित शाह का बड़ा बयान, देश के मूड के साथ चलें, वर्ना खत्म हो जाएंगे

 

नई दिल्ली: पिछले कई दिनों से पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की चीफ महबूबा मुफ्ती लगातार गुपकार गुट बैठक का अगुवाई कर रही है, जिसे लेकर गृहमंत्री अमित शाह ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कांग्रेस नेतृत्व से सवाल पूछते हुए कहा कि ये गैंग जम्मू-कश्मीर में विदेशी ताकतों का दखल चाहता है, हमारे राष्ट्र ध्वज का अपमान करता है? क्या सोनिया और राहुल गांधी इसका समर्थन करते हैं?

उ पूछते हुए कहा हैबयान दिया है। अमित शाह ने बड़ा बयान दिया है। ती लगातार गुपकार बैठक थ 14 अन्य मंत्रिshah, PM modi, Bihar governन्होंने गुपकार गुट को चेतावनी देते हुए कहा कि ये लोग देश के मूड के साथ चलें, वर्ना खत्म हो जाएंगे। आपको बता दें कि इस दौरान शाह ने एक के बाद एक तीन ट्वीट किए और गुपकार गुट के नेताओं और कांग्रेस पर तीखे हमले किये। गृहमंत्री ने कहा कि, "गुपकार गैंग ग्लोबल हो रहा है, वे चाहते हैं कि विदेशी ताकतें जम्मू-कश्मीर में दखल करें, गुपकार गैंग भारत के राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे का अपमान करता है, क्या सोनिया जी और राहुल जी गुपकार गैंग के ऐसे कदमों का स्वागत करती है? उन्हें अपना रुख पूरी तरह से स्पष्ट करना चाहिए।"

अमित शाह ने अगले ट्वीट में कहा कि, "कांग्रेस और गुपकार गैंग जम्मू कश्मीर को फिर आतंक और कोलाहल वाले युग में वापस लेकर जाना चाहते हैं। वे दलितों और महिलाओं का अधिकारों को वापस लेना चाहते हैं, जिन्हें हमने अनुच्छेद 370 को खत्म कर सुनिश्चित किया है। यही वजह है कि हर जगह से उनको नकारा जा रहा है।"

गृहमंत्री ने आगे कहा कि, ”जम्मू कश्मीर हमेशा भारत का अभिन्न अंग है और रहेगा। देश के लोग राष्ट्रहित के खिलाफ इस अपवित्र ग्लोबल गठबंधनको ज्यादा समय तक बर्दाश्त नहीं करेंगे। या तो गुपकार गैंग को देश के मूड के हिसाब से चलना होगा नहीं तो लोग उसे डूबा देंगे।

गौरतलब है कि पीडीपी प्रमुख नजरबंदी से रिहा होने के बाद लगातार केंद्र सरकार पर हमलावर रूख अख्तियार किये हुए है, और एकबार फिर जम्मू-कश्मीर में धारा-370 को लाने की बात कह रही है। इसके साथ ही वो लगातार घाटी में बैठकें भी कर रहें है, जिसे लेकर लोगों ने यह अनुमान लगाना शुरू कर दिया है की एकबार फिर घाटी में असंतोष की भावना पैदा हो सकती है।

From around the web