हाथरस की निर्भया की मृत्यु नहीं हुई है, बल्कि उसे मारा गया है : सोनिया गांधी

 

रिपोर्ट : रितिका आर्या

नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुए गैंगरेप कांड मामले से देशभर में गस्से का माहौल है। इस घटना को लेकर जगह-जगह प्रदर्शन हो रहे हैं। प्रदेश की योगी सरकार ने जहां इस मामले पर SIT का गठन कर दिया है तो वहीं अब इस मामले पर सोनिया गांधी ने भी योगी सरकार से सवाल पूछ लिए हैं। सोनिया ने कहा, ''आज देश के करोड़ों लोगों दुख और गुस्से में हैं। हाथरस की मासूम लड़की के साथ जो हुआ वो हमारे समाज पर कलंक है। मैं पूछना चाहती हूं कि क्या लड़की होना गुनाह है, क्या गरीब की लड़की होना अपराध होना है? उत्तर प्रदेश सरकार क्या कर रही थी?'' उन्होंने कहा, ''हफ्तों तक परिवार की न्याय की पुकार को सुना नहीं गया। पूरे मामले को दबाने की कोशिश की गई। समय पर सही इलाज नहीं दिया गया।''

कांग्रेस अध्यक्ष ने आरोप लगाया, ''मैं कहना चाहती हूं कि हाथरस की निर्भया की मृत्यु नहीं हुई है, बल्कि उसे मारा गया है। एक निष्ठुर सरकार, उसके प्रशासन और सरकार की उपेक्षा द्वारा यह हुआ है।'' उन्होंने कहा, ''मृत्यु के बाद उसके शव को परिवार को सौंपा नहीं गया। एक मां को अपनी बेटी को आखिरी बार विदा नहीं करने दिया गया। यह घोर पाप है। जोर-जबरदस्ती करके लड़की का शव जला दिया गया है। मरने के बाद भी व्यक्ति की गरिमा होती है। हमारा हिंदू धर्म भी यह कहता है।''

आपको बता दें कि, उत्तर प्रदेश में बेटियों के साथ छेड़छाड़ और रेप जैसी वारदातें थमने का नाम नहीं ले रही। जहां अभी हाथरस में नाबालीग के साथ हुई दरिंदगी की आग ठंडी भी नहीं हुई थी की अब बलरामपुर से भी हैरान और परेशान करने वाला मामला सामने आया है। बता दें कि, उत्तर प्रदेश में बलरामपुर में 22 साल की लड़की के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया है जिसमें पीड़िता की मौत हो गई है। इस मामले में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए दो नामजद आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

From around the web