शर्मनाक : TMC नेता ने लगाया हाथरस पुलिस पर बड़ा आरोप, कहा हमारे ब्लाउज खींचे

 

नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश के हाथरस गैंगरेप मामले को लेकर लगातार जनाक्रोश बढ़ता जा रहा है, वहीं राजनीतिक सरगर्मियां भी तेज हो गई है। आपको बता दें कि 1 अक्टूबर यानी कल कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रियंका गांधी पीड़िता के परिवार से मिलने के लिए हाथरस की ओर कूच किये थे, लेकिन इस दौरान उन्हें रोक दिया गया। जिस कारण राहुल पुलिस से उलझ पड़े और आपसी धक्का-मकुक्की में वे जमीन गिर पड़े। हालांकि इस घटना के बाद योगी सरकार और प्रशासन पर विपक्षियों पार्टियों ने जमकर हमला किया।

आपको बता दें कि उसके एक ही दिन बाद यानी 2 अक्टूबर को TMC नेता डेरेक ओ ब्रायन अपने दल बल के साथ हाथरस पीड़िता के परिवार से मिलने के लिए चल पड़े, लेकिन उन्हें भी रास्ते में रोका गया और इस दौरान वे भी गिर पड़े। हालांकि इस घटना के बाद TMC नेता ममता ठाकुर ने हाथरस पुलिस पर बड़ा आरोप लगाया है, उन्होंने कहा कि, 'महिला पुलिसकर्मियों ने हमारे ब्लाउज खींचे और हमारी सांसद प्रतिमा मंडल पर लाठीचार्ज किया।'


TMC नेता ममता ठाकुर ने आरोप लगाया, 'हम गैंगरेप पीड़िता के परिवार से मिलने जा रहे थे, लेकिन हमें अनुमति नहीं दे रहे थे। जब हमने जोर दिया कि तो महिला पुलिसकर्मियों ने हमारे ब्लाउज खींचे। हमारी सांसद प्रतिमा मंडल पर लाठीचार्ज किया। वह नीचे गिर गईं। इस दौरान पुरुष पुलिस अधिकारियों ने उसे छुआ। जो कि शर्मनाक करने वाला है।


वहीं TMC सांसद प्रतिमा मंडल ने कहा कि, 'हमें ममता बनर्जी की ओर से कथित बलात्कार पीड़िता के परिवार से मिलने के लिए भेजा गया ताकि हम अपनी संवेदना व्यक्त कर सकें। हालांकि हमने अपना परिचय दिया, लेकिन हमें उनसे (पीड़ित परिवार) मिलने नहीं दिया गया और पुलिस की ओर से धक्का-मुक्की की गई। यदि वे एक महिला सांसद का सम्मान नहीं कर सकते हैं तो आम लोगों की स्थिति की कल्पना करें।' आपको बता दें कि हाथरस गैंगरेप मामले को लेकर योगी सरकार और प्रशासन पर लगातार जानबूझ कर मामले को दबाने का आरोप लग रहा है। अब देखना यह है कि इस मामले को लेकर योगी सरकार या केंद्र सरकार कौन सा कदम उठाती है।

From around the web