शर्मनाक! प्राइवेट अस्पताल में 600 रखी गई है कोरोना वैक्सीन की कीमत...

 
शर्मनाक! प्राइवेट अस्पताल में 600 रखी गई है कोरोना वैक्सीन की कीमत...

मुंबई: Covishield वैक्सीन का उत्पादन करने वाली कंपनी सीरम इंडस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (SII) ने भारत सरकार की घोषणा के बाद अब वैक्सीन के दाम घोषित कर दिए हैं। SII ने बताया कि राज्य सरकारों को कंपनी की तरफ से जो वैक्सीन की सप्लाई होगी उसकी कीमत प्रति डोज 400 रुपए होगी और निजी अस्पतालों को जो सप्लाई होगी उसकी कीमत 600 रुपए प्रति डोज निर्धारित की गई है। राज्य सरकारों और निजी अस्पतालों को होने वाली कंपनी की 50 प्रतिशत सप्लाई के लिए यह कीमत निर्धारित की गई है।

SII की घोषणा के बाद फिलहाल यह स्पष्ट नहीं है कि आम लोगों को वैक्सीन के लिए कितनी कीमत चुकानी पड़ेगी। कंपनी ने​ फिलहाल राज्य सरकारों और अस्पतालों को उपलब्ध वैक्सीन के रेट घोषित किए हैं। लेकिन यदि अस्पताल इसमें अपनी लागत जोड़ते हैं तो इसकी कीमत और अधिक हो सकती है। वहीं यदि राज्य सरकारें इस पर सब्सिडी देती हैं तो कीमत घट भी सकती हैं।

SII ने बताया कि आने वाले दिनों में उसकी तरफ से वैक्सीन का जितना उत्पादन किया जाएगा उसका 50 प्रतिशत हिस्सा भारत सरकार के वैक्सीन कार्यकम के लिए सप्लाई किया जाएगा और बाकी 50 प्रतिशत हिस्सा राज्य सरकारों तथा निजी अस्पतालों को सप्लाई होगा। कंपनी के उत्पादन की जो 50 प्रतिशत सप्लाई भारत सरकार के वैक्सीन कार्यक्रम पर होगी उसकी कीमत वही है जिसपर पहले से कंपनी सरकार को मुहैया करा रही है।

SII का दावा

SII ने बताया कि उसकी वैक्सीन डोज की कीमत दुनिया की अन्य वैक्सीन के मुकाबले काफी कम है, कंपनी के अनुसार अमेरिकी वैक्सीन की कीमत 1500 रुपए प्रति डोज से ज्यादा है, रूस की वैक्सीन की कीमत 750 रुपए प्रति डोज से ज्यादा और चीन की वैक्सीन की कीमत भी 750 रुपए प्रति डोज से ज्यादा है। कंपनी ने यह भी बताया कि देशभर में दवा की दुकानों पर उसकी वैक्सीन अगले 4-5 महीने में उपलब्ध हो जाएगी और तबतक सप्लाई मौजूदा व्यवस्था के तहत ही रहेगी।

हमारा सुझाव

लेकिन सरकारो को ये समझना पड़ेगा कि आधी से ज्यादा जनता के पास इन दिनों पैसों की काफी किल्लत है। गरीबों के लिए सरकार को इन वैक्सीन को मुफ्त करना चाहिए। 2020 में आई कोरोना लहर के समय ने पीएम मोदी को दिल खोलकर दान दिया था। मोदी सरकार को उन पैसों का इस्तिमाल इस वक्त गरीब लोगों को मदद करने के लिए करना चाहिए। बहरहाल, भले ही सरकारी अस्पतालों में इसकी कीमत 400 रुपये रखी है लेकिन आम और गरीब जनता है के लिए बहुत ही महंगा वैक्सीन है।

From around the web