Education: इस विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले छात्रों को मिलेगा पार्ट टाइम जॉब, पढ़ाई के साथ-साथ कमाई भी

 

नई दिल्ली : देश में जहां एक तरफ बेरोजगारी नामक डायनासोर लगातार अपनी मुंह फाड़े लोगों को बेरोजगार कर रहा है, वहीं दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ऐसे कई कदम उठा रहीं है जिससे इस बेरोजगारी और भूखमरी पर अंकुश लगाया जा सकें। क्योंकि बेरोजगारों की संख्या बढ़ने से ये लाजिमी है कि अगर उन्हें जल्द रोजगार ना मिला तो उनके सामने भूखमरी का संकट उत्पन्न हो सकता है। इसे लेकर वो ऐसे कई कदम उठा सकते हैं, जो हिंसक हो सकता है।

आपको बता दें कि यूपी की योगी सरकार ने लखनऊ विश्वविद्यालय में पढ़ रहें छात्रों को लेकर अनूठी पहल शुरू की है, जिससे वे अब पढ़ाई के साथ-साथ कमाई भी कर सकेंगे। इससे उनके सामने पढ़ाई के खर्चे या उनके परिवार पर शिक्षा संबंधित कोई अतिरिक्त बोझ नहीं बढ़ेगा। बता दें कि विश्वविद्यालय ने इसके लिए कर्मयोगी योजाना को लॉन्च किया है। इसे लेकर रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया भी शुरू हो चुका है, जहां छात्र आवेदन करने लगे हैं।

इस योजना के बारे में जानकारी देते हुए लखनऊ यूनिवर्सिटी के कुलपति आलोक राय ने बताया कि इस योजना के अंतर्गत छात्रों को अधिकतम 50 दिनों के लिए रोजगार दिया जायेगा। यानि अब वे इस योजना के तहत कैंपस में भी दो घंटे तक काम कर सकेंगे। इसके एवज में उन्हें प्रति घंटे 150 रूपये का भुगतान किया जायेगा। उन्होंने बताया कि कर्मयोगी योजना के तहत अभिनव गुप्त भाषा संस्थान को संकाय का दर्जा दिया जायेगा।

वीसी एक राय ने बताया कि पीएचडी के छात्र पोस्ट ग्रेजुएशन के छात्रों को पढ़ाएंगे। जिससे छात्रों के बीच की बॉन्डिंग काफी अच्छी होगी।

From around the web