लोकसभा में गरजे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, चीन के उड़ गये तोते

 

रिपोर्ट : रितिका आर्या

नई दिल्ली : भारत और चीन के बीच लगातार चल रहीं गतिविधियों के बीच गुरूवार 17 सितंबर को लोकसभा में राजनाथ सिंह ने चीन को आड़े हाथ लेते हुए कड़ी आलोचना की। वहीं उन्होंने भारतीय सेनाओं के अदम्य साहस का भी परिचय दिया। राजनाथ सिंह  ने कहा कि वो हाल ही में लद्दाख गए। वहां जाकर उन्होंने जवानों का हौसला बढ़ाया। सिंह ने कहा कि मेरे अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी जवानों के बीच पहुंचे, उनके साहस की सराहना की। राजनाथ सिंह ने कहा कि जब मैं जवानों से मिला तो मैंने जवानों का अदम्य साहस महसूस किया। मैंने वहां देखा जवानों का जोश देश के लिए कर गुजरने वाला है। आप जानते हैं कर्नल संतोष बाबू ने भी मातृभूमि की रक्षा करते हुए अपने जीवन का बलिदान दे दिया था।

हम किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा की सीमा विवाद एक अनसुलझा विवाद है। चीन दोनों ही देशों के बीच हुए समझौतों की अनदेखी कर रहा है। वो (चीन) एलएसी (वास्तविक नियंत्रण रेखा) को नहीं मानता है। उनके कहने और करने में फर्क है। सिंह का कहना है कि हम किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं। आपको बता दें कि बीते कई महीनों में चीन लगातार LAC सीमा का उल्लंघन कर रहा है। जिसे लेकर भारतीय सेना भी उन्हें हरसंभव जवाब दिया, जिससे चीन की सेना को भागना पड़ा।

गौरतलब है कि चीन के इस गैर-गतिविधि को लेकर NSA चीफ अजीत डोभाल और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने लगातार LAC सीमा का दौरा किया था। इस दौरे के बाद LAC सीमा पर भारतीय सैनिकों की तैनाती कर दी गई है, वहीं अत्याधुनिक मिसाइलों का भी तैनाती कर दिया गया है। जिससे चीन को उसके वार का करारा जवाब मिल सका।

From around the web