फिर शर्मसार हुआ UP, बाराबंकी में दलित लड़की की रेप के बाद हत्या

 

रिपोर्ट- रितिका आर्या

उत्तर प्रदेश एक बार फिर शर्मसार हुआ है। यहां, बाराबंकी में एक नाबालिग लड़की से रेप के बाद हत्या की घटना सामने आई है। बताया जा रहा है पोस्टमार्टम रिपोर्ट में नाबालिग से रेप की पुष्टि हुई है। फिलहाल पुलिस ने इस मामले कुछ संदिग्धों को पूछताछ के लिए उठाया है वहीं अब पुलिस ने आईपीसी की धारा 376 के तहत कार्यवाही शुरू कर दी है

बता दें, कहा जा रहा है कि पुलिस द्वारा पीड़िता के शव का अंतिम संस्कार उसकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आने से पहले ही करा दिया गया था। परिजनों का पुलिस पर आरोप है कि पुलिस इस मामले को शुरूआत से ही दबाने की कोशिश कर रही है। इस मामले में पुलिस द्वारा नाबालिग को बालिग बताया जा रहा है जब्कि परिजनों का कहना है कि उनकी बेटी नाबालिग थी।  

क्या था पूरा मामला

बाराबंकी जिले में बुधवार देर शाम खेत में धान काटने गई एक दलित किशोरी के साथ बदमाशों द्वारा रेप की घटना को अंजाम दिया गया वहीं उसके बाद नाबालिग को मौत की नींद सुला दिया गया। इस घटना के सामने आने के बाद मामले पर बवाल बढ़ता देख पुलिस ने पहले तो पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आने से पहले ही बच्ची का अंतिम संस्कार करा दिया गया। तो वहीं अब मृत बच्ची को बालिग बता रही है। परिजनों ने पुलिस पर आरोप लगाया है कि पुलिस मामले को दबाने के प्रयास में है। इसी कारण वह हमारी बच्ची को बालिग भी बता रही है। परिजनों का कहना है कि उनकी बच्ची नाबालिग है लेकिन पुलिस उसे बालिग बता रही है।

आपको बता दें, पुलिस ने इस मामले पर कार्यवाही करते हुए कुछ संदिग्धों को पूछताछ के लिए उठाया है। वहीं पोस्टमोर्टम रिपोर्ट में रेप की पुष्टि होने के बाद दर्ज मुकदमे में आईपीसी की धारा 376 को बढ़ाया गया है। वहीं इस मामले पर जानकारी देते हुए बाराबंकी जिलाधिकारी डॉ आदर्श सिंह का कहना है कि घटना में निष्पक्ष जांच कराने के निर्देश दिए गए हैं। इसके साथ ही गांव में पीएसी के साथ भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

पुलिस ने अपने बयान में कहा है कि कल थाना सतरिख के अंतर्गत एक खेत में एक 18 वर्षीय महिला का शव संदिग्ध अवस्था में मिला था। जिसके बाद आईपीसी के धारा 302 के अंतर्गत केस दर्ज कर मामले की विवेचना शुरू कर दी गई थी। जिसमें मृतका के पोस्टमार्टम के आधार पर आज धारा 376 की बढ़ोतरी की गई है। इसके साथ ही प्रभारी पुलिस अधीक्षक आर एस गौतम ने अपने बयान में कहा कि प्रारंभिक जांच में सामने आए संदिग्धों से इस मामले लगातार जांच की जा रही है।

From around the web