COVID-19: सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव के बाद कांग्रेस दिग्गज नेताओं ने भी उठाया वैक्सीन पर सवाल, मांगा जवाब

 

नई दिल्ली : सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव के बाद अब कांग्रेस के दो दिग्गज नेता शशि थरूर और जयराम रमेश ने भी कोरोना वैक्सीन के टीके को लेकर सवालियां निशान खड़ा किया है। शशि थरूर ने कहा कि कोवैक्सीन का अबतक तीसरे चरण का ट्रायल नहीं किया गया है। इसको दी गई अनुमति अपरिपक्व है और ये कदम जोखिम भरा हो सकता है। इसे लेकर उन्होंने स्वास्थ मंत्री डॉ हर्षवर्धन से भी सफाई की मांग की है।

थरूर ने कहा कि जब तक इसका ट्रायल पूरा न हो जाए तबतक इसका प्रयोग नहीं किया जाना चाहिए। तबतक भारत AstraZeneca और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा विकसित वैक्सीन से काम चला सकता है। बता दें कि AstraZeneca और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा विकसित वैक्सीन को पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट बना रहा है। इस वैक्सीन का नाम कोविशील्ड है।

आपको बता दें कि शशि थरूर के बाद कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने भी यही सवाल उठाया और कहा कि भारत बायोटेक नयी कंपनी है, लेकिन ये आश्चर्यजनक है कि कोवैक्सीन के लिए फेज थ्री से जुड़े प्रोटोकॉल को मोडिफाई किया जा रहा है।

वहीं दूसरी तरफ बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पलटवार करते हुए कहा कि 'बार-बार हमने देखा है जब भी भारत कुछ सराहनीय योग्य चीज हासिल करता है, जो आगे चलकर सार्वजनिक रूप से लोगों के लिए अच्छा साबित होने वाला होता है, कांग्रेस उसका वाइल्ड थ्योरी लेकर विरोध करने और उपलब्धियों का उपहास करने आ जाती है।' बता दें कि कांग्रेस नेता थरूर और जयराम से पहले सपा नेता अखिलेश यादव ने भी कोरोना वैक्सीन को भाजपा की वैक्सीन बताकर टीके लगाने से इंकार किया था।

गौरतलब है कि आज ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने आज सीरम इंस्टीट्यूट कै वैक्सीन कोविशील्ड और भारत बायोटेक की वैक्सीन कोवैक्सीन को इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है। इस ग्रीन सिग्नल के बाद इस वैक्सीन को आम लोगों को लगाया जा सकेगा।

From around the web