शीतलहर के बीच अल्कोहल का सेवन स्वास्थ्य के लिए हो सकता है घातक, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

 

नई दिल्ली : अमूमन मौसम विभाग मौसम को लेकर अलर्ट करता है, लेकिन यह पहली बार है जब मौसम विभाग ने शीतलहर के बीच अल्कोहल का सेवन करना स्वास्थ के लिए घातक बताया है। मौसम विभाग ने चेतावनी जारी करते हुए कहा कि नए साल के जश्न के दौरान दिल्ली शीतलहर की चपेट में रहेगी। इससे न्यूनतम पारा तीन से चार डिग्री पर पहुंच सकता है। ऐसी स्थिति में अल्कोहल के इस्तेमाल से शरीर और ठंडा पड़ सकता है। इससे तबीयत बिगड़ सकती है। लिहाजा, मौसम का तापमान कम होने पर अल्कोहल के इस्तेमाल से बचें।

विशेषज्ञ ने कहा कि शीत प्रकोप का सामना करने के लिए लोग घर के अंदर ही रहें और विटामिन सी से भरपूर फल खाएं और अपनी त्वचा का नियमित ख्याल रखें। आपको बता दें कि शनिवार को भी दिल्ली शीतलहर की चपेट में रही। इससे अधिकतम तापमान सामान्य से एक डिग्री ज्यादा 21.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं न्यूनतम तापमान 4.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से तीन डिग्री कम है।

आईएमडी के क्षेत्रीय पूर्वानुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि हिमालय की ऊपरी पहुंच को प्रभावित करने वाले एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से रविवार और सोमवार को पारा थोड़ा बढ़ जाएगा। जिससे पश्चिमी विक्षोभ जम्मू और कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में बर्फबारी और बढ़ जाएगी।

श्रीवास्तव ने कहा कि 28 से 29 दिसंबर तक पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, यूपी और उत्तरी राजस्थान में अलग-अलग इलाकों में शीतलहर और बढ़ने की संभावना है। विभाग ने कहा कि पश्चिमी हिमालय से आने वाली हवाओं के चलने से ठंडी और शुष्क और उत्तर-पश्चिमी हवाओं के चलने के बाद उत्तर भारत में न्यूनतम तापमान में तीन से पांच डिग्री सेल्सियस की कमी आएगी।

आपको बता दें कि मैदानी इलाकों के लिए मौसम विभाग ने शीत लहर की घोषणा की है। इस दौरान न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस या उससे नीचे रहने और सामान्य से 4.5 डिग्री कम हो जता है। मौसम विभाग ने कहा कि 'गंभीर' शीत लहर तब होती है जब न्यूनतम तापमान दो डिग्री सेल्सियस तक जाता है या 6.4 डिग्री सेल्सियस से अधिक होता है। आपको बता दें कि पिछले रविवार को न्यूनतम तापमान 3.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था, जो कि इस सीजन में अब तक का सबसे ठंडा दिन रहा है।

From around the web