बीजेपी नेता संबित पात्रा ने लांघी सारी सीमाएं, केरल मुख्यमंत्री पर लगाया बड़ा आरोप

 

नई दिल्ली: देश में जारी किसान आंदोलन को लेकर बीजेपी नेता संबित पात्रा ने केरल के मुख्यमंत्री पीनराई विजयन पर बड़ा हमला किया है। उन्होंने कहा कि केरल के मुख्यमंत्री पीनराई विजयन कृषि कानून को लेकर सुप्रीम कोर्ट जाने की कोशिश कर रहे थे। मगर उनको बताना चाहिए कि आखिर क्यों केरल में APMC (कृषि उपज विपणन समिति) का कानून नहीं है। आप वामपंथियों का दोगलापन देखिए। ये पूरे हिंदुस्तान में APMC कानून को लेकर भ्रमजाल फैला रहे हैं।

उन्होंने कहा कि 1993 से 2018 तक 25 वर्षों तक त्रिपुरा में वामपंथ की सरकार रही। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि त्रिपुरा में इन 25 वर्षों तक कोई भी MSP नहीं था। 25 वर्षों तक वामपंथ के अंतर्गत त्रिपुरा एकमात्र ऐसा राज्य था जहां पर MSP लागू नहीं होती थी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कुछ वामपंथी दल किसानों के कंधों पर बंदूक रखकर राजनीति साधने की कोशिश कर रहे हैं। इनसे दोगली पाखंडी पार्टी और कोई नहीं। इन्होंने दोगलेपन की सारी सीमाओं को लांघ दिया है। इन्होंने किसानों पर कई अत्याचार किए हैं। ये बात अलग है कि वे आज दिखावा कुछ और कर रहे हैं।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कृषि बिल को जारी किसानों का आंदोलन बहुत जल्द खत्म हो जायेगा। उन्होंने कहा कि हमने देखा कि आज बहुत से किसान संगठन तीन बिलों के समर्थन में उतरे हैं कृषि मंत्री से उन्होंने मुलाकात भी की और मोदी जी को धन्यवाद दिया है। नरेंद्र मोदी जी की सरकार और स्वयं मोदी जी जो हिंदुस्तान के मुख्य सेवक हैं वे किसानों को अन्नदाता और भगवान मानते हैं।

From around the web