छठ को लेकर बड़ा फैसला, इस बार राजधानी में सार्वजनिक स्थलों पर नहीं मनाई जाएगी छठ

 

रिपोर्ट- रितिका आर्या

देश में कोरोना के बढ़ते आंकड़ो को देखते हुए अब इस साल छठ पूजा का आयोजन सार्वजनिक स्थलों पर नहीं किया जाएगा। हालांकि लोग इस पर्व को अपने घरों में या किसी निजी स्थल पर जाकर मना सकते हैं लेकिन इस दौरान उन्हें कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लगाए गए नियमों का पालन करना होगा।  

इसे लेकर दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी की ओर से सभी संबंधित जिला अधिकारियों को निर्देश जारी कर दिए हैं। DDMA ने अपने आदेश में कहा है कि राजधानी में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामलों को देखते हुए छठ पूजा सार्वजनिक जगहों पर मनाने की इजाजत नहीं दी जा सकती। DDMA ने लोगों को घर पर ही छठ पूजा मनाने की सलाह दी है। इसके साथ ही जिला अधिकारियों और जिले के सीनियर पुलिस अधिकारियों को DDMA ने सभी छठ पूजा से जुड़ी धार्मिक कमिटियों के साथ बैठक करने के निर्देश भी दिए हैं।

आपको बता दें, हर बार धूम धाम से मनाए जाने वाले इस पर्व की इस बार कोरोना के कारण धूम देखने को नहीं मिलेगी। कोरोना वायरस के मद्देनजर इस बार छठ पूजा का आयोजन हर साल की तरह सार्वजनिक स्थलों पर छठ पूजा का आयोजन नहीं किया जाएगा। ये पर्व (छठ पर्व) बिहार, झारखंड और पूर्वी उत्तर प्रदेश में लाखों लोगों द्वारा बड़े धूम धाम के साथ मनाया जाता है।

इस साल छठ पर्व 18 नवंबर से 21 नवंबर तक मनाया जाएगा। 18 नवंबर को इसकी शुरुआत होगी, इस दिन नहाय खाय, 19 नवंबर को खरना, 20 नवंबर को संध्या अर्घ्य और 21 नवंबर की सुबह उषा अर्घ्‍य के साथ इसकी समाप्ति होगी।

From around the web