AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी का मोहन भागवत पर बड़ा हमला, कहा हम कितने खुश हैं...

 

नई दिल्ली : महाराष्ट्र की एक पत्रिका को दिए एक साक्षात्कार में संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा था कि सबसे ज्यादा भारत के ही मुस्लिम संतुष्ट हैं, जो बयान AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी को नहीं पचा और उन्होंने भागवत पर बड़ा हमला कर दिया। ओवैसी ने कहा कि मोहन भागवत यह न बताएं कि हम कितने खुश हैं, जबकि उनकी विचारधारा मुसलमानों को द्वितीय श्रेणी का नागरिक बनानी चाहती है।

आपको बता दें कि अपने साक्षात्कार के दौरान संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा था कि सबसे ज्यादा भारत के ही मुस्लिम संतुष्ट हैं। उन्होंने कहा था कि क्या दुनिया में एक भी उदाहरण ऐसा है जहां किसी देश की जनता पर शासन करने वाला कोई विदेशी धर्म अब भी वजूद में हो। जिसका जवाब देते हुए उन्होंने कहा था कि कहीं नहीं, केवल भारत में ही ऐसा है।

जिस पर टिप्पणी करते हुए ओवैसी ने कहा कि, "खुशी का पैमाना क्या है? यही कि भागवत नाम का एक आदमी हमेशा हमें बताता रहा कि हमें बहुसंख्यकों के प्रति कितना आभारी होना चाहिए? हमारी खुशी का पैमाना यह है कि क्या संविधान के तहत हमारी मर्यादा का सम्मान किया जाता है या नहीं, अब हमें ये नहीं बताइए कि हम कितने खुश हैं, जबकि आपकी विचारधारा चाहती है कि मुसलमानों को द्वितीय श्रेणी का नागरिक बनाया जाए।"

वहीं संघ प्रमुख के एक और बयान पर ओवैसी ने कहा कि, "मैं आपको ऐसा कहते हुए सुनना नहीं चाहता हूं कि हमें अपने ही होमलैंड में रहने के लिए बहुसंख्यकों के प्रति कृतज्ञता जतानी चाहिए। हमें बहुसंख्यकों की सह्रदयता नहीं चाहिए, हम दुनिया के मुसलमानों के साथ खुश रहने की प्रतिस्पर्द्धा में नहीं हैं, हम सिर्फ अपना मौलिक अधिकार चाहते हैं।"

आपको बता दें कि संघ प्रमुख मोहन भागवत ने अपने इस बयान में कहा था कि ऐसी कोई शर्त नहीं है कि भारत में रहने के लिए किसी को हिन्दुओं की श्रेष्ठता को स्वीकार करना ही होगा, और संविधान भी ऐसा नहीं कहता है। बता दें कि यह पहली बार नहीं है, जब ओवैसी ने संघ प्रमुख मोहन भागवत ने हमला किया हो, वे इससे पहले भी कई बार भागवत को आड़े हाथ ले चुंके है। अब देखना यह है कि ओवैसी के इस बयान के बाद बीजेपी अपना कौन सा दांव चलती है, क्योंकि ओवैसी एक बार फिर बिहार के चुनाव में अपना दमखम अपना रहे है। जिसे लेकर वो मुस्लिम वोट की राजनीति लगातार करते नजर आ रहा है।

From around the web