दुनिया की उम्मीदों का केंद्र बिंदु है भारत : पीएम मोदी

 
दुनिया की उम्मीदों का केंद्र बिंदु है भारत : पीएम मोदी
दुनिया की उम्मीदों का केंद्र बिंदु है भारत : पीएम मोदी दुनिया की उम्मीदों का केंद्र बिंदु है भारत : पीएम मोदी दुनिया की उम्मीदों का केंद्र बिंदु है भारत : पीएम मोदी दुनिया की उम्मीदों का केंद्र बिंदु है भारत : पीएम मोदीविशाखापत्तनम, 12 नवंबर (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए मौजूदा चुनौतीपूर्ण समय में भारत दुनिया की उम्मीदों का केंद्र बिंदु बन गया है। उन्होंने दावा किया कि ऐसे समय में जब कई देश अपनी गिरती अर्थव्यवस्थाओं से चिंतित हैं, भारत कई क्षेत्रों में नई ऊंचाइयों को छू रहा है और विकास की एक नई कहानी लिख रहा है।

उन्होंने कहा, आज पूरा विश्व संघर्ष के एक नए दौर से गुजर रहा है। कुछ देश आवश्यक वस्तुओं की कमी का सामना कर रहे हैं तो कुछ ऊर्जा संकट से जूझ रहे हैं। गिरती अर्थव्यवस्था से लगभग हर देश चिंतित है। इसके बीच भारत कई क्षेत्रों में नई ऊंचाइयों को छू रहा है और विकास की नई कहानी लिख रहा है।

प्रधानमंत्री विशाखापत्तनम में कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन या शिलान्यास करने के बाद एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा, दुनिया आपको दिलचस्पी से देख रही है। विशेषज्ञ और बुद्धिजीवी भारत की तारीफ कर रहे हैं। आज भारत पूरी दुनिया की उम्मीदों का केंद्र बिंदु बन गया है।

मोदी ने दावा किया कि यह संभव हुआ क्योंकि भारत लोगों की आकांक्षाओं और जरूरतों को प्राथमिकता देकर काम कर रहा है। उन्होंने कहा, हमारी हर नीति और फैसला आम आदमी के जीवन को बेहतर बनाना है।

उन्होंने कहा कि एक तरफ पीएलआई, जीएसटी, आईबीसी, राष्ट्रीय बुनियादी ढांचा पाइपलाइन और गति शक्ति जैसी योजनाओं और नीतियों के कारण देश में निवेश बढ़ रहा है जबकि दूसरी तरफ गरीबों के कल्याण के लिए योजनाओं का विस्तार जारी है।

उन्होंने कहा कि करोड़ों गरीबों को 2.5 साल से मुफ्त राशन मिल रहा है, जबकि 3.5 साल से पीएम किसान योजना के तहत हर साल हर किसान के बैंक खातों में 6,000 रुपये जमा किए जा रहे हैं।

मोदी ने कहा कि सरराइज सेक्टरों पर सरकार की नीतियां युवाओं के लिए नए रास्ते खोल रही हैं और ड्रोन से लेकर गेमिंग तक और अंतरिक्ष से लेकर स्टार्टअप तक हर क्षेत्र को विकसित होने का अवसर मिल रहा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि देश ब्लू इकॉनोमी द्वारा पेश किए गए विशाल अवसरों का दोहन करने का प्रयास कर रहा है। उन्होंने कहा कि पहली बार ब्लू इकॉनोमी देश की बड़ी प्राथमिकता बन गई है।

विशाखापत्तनम फिशिंग हार्बर के आधुनिकीकरण और उन्नयन की नींव रखने वाले मोदी ने उम्मीद जताई कि इस परियोजना से मछुआरों के जीवन स्तर में सुधार होगा।

उनका मानना है कि गरीबों के सशक्तिकरण और आधुनिक तकनीकों तक उनकी बढ़ती पहुंच से विकसित भारत के सपने को साकार करने में मदद मिलेगी।

उन्होंने कहा कि विशाखापत्तनम में उनके द्वारा शुरू की गई परियोजनाएं बुनियादी ढांचे और समावेशी विकास की नई ²ष्टि को दर्शाती हैं।

उन्होंने विशाखापत्तनम को भारत का एक विशेष शहर बताया और बताया कि हजारों वर्षो से यहां के बंदरगाह का उपयोग पश्चिम एशिया और रोम तक व्यापार के लिए किया जाता था।

उन्होंने कहा, आज विशाखापत्तनम भारत के व्यापार का केंद्र बिंदु है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि ये परियोजनाएं नए रास्ते खोलेगी और आंध्र प्रदेश और विशाखापत्तनम में विकास को नई ऊंचाइयों पर ले जाएंगी।

--आईएएनएस

एसकेके/एएनएम

From around the web