तेलंगाना के अधिकारी ने सीएम के छुए पैर, शुरु हुआ बवाल

हैदराबाद, 16 नवंबर (आईएएनएस)। तेलंगाना के जन स्वास्थ्य निदेशक डॉ. जी. श्रीनिवास राव ने मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव के पैर छूकर विवाद खड़ा कर दिया।
 
तेलंगाना के अधिकारी ने सीएम के छुए पैर, शुरु हुआ बवाल
तेलंगाना के अधिकारी ने सीएम के छुए पैर, शुरु हुआ बवाल हैदराबाद, 16 नवंबर (आईएएनएस)। तेलंगाना के जन स्वास्थ्य निदेशक डॉ. जी. श्रीनिवास राव ने मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव के पैर छूकर विवाद खड़ा कर दिया।

स्वास्थ्य विभाग के शीर्ष अधिकारी मंगलवार को मुख्यमंत्री के सरकारी आवास पर एक कार्यक्रम के दौरान एक बार नहीं बल्कि दो बार उनके पैर छूते नजर आए। उसी का वीडियो क्लिप गुरुवार को वायरल हो गया।

मौका था मुख्यमंत्री द्वारा आठ नए सरकारी मेडिकल कॉलेजों के लोकार्पण का। श्रीनिवास राव को सबसे पहले मुख्यमंत्री को एक गुलदस्ता भेंट करते हुए देखा गया। इसके बाद अधिकारी ने अपनी पतलून की जेब से एक कागज निकाला और सीएम को सौंप दिया, जिन्होंने उसे अपनी शर्ट की जेब में रख लिया। इसके बाद वह केसीआर के पैर छूने के लिए झुके। श्रीनिवास हाथ जोड़कर उनसे विनती करते नजर आए।

इतने पर भी जब बात न बनी तो जब वह जा रहे थे तो उन्होंने फिर से केसीआर के पैर छुए और फिर से हाथ जोड़कर कुछ विनती की। यह स्पष्ट नहीं है कि अधिकारी के लिखित और मौखिक अनुरोध क्या थे, लेकिन ऐसी अटकलें हैं कि वह अगला विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए टीआरएस का टिकट पाने की कोशिश कर रहे हैं।

अधिकारी की हर तरफ आलोचना हो रही है। विपक्षी दलों और लोगों ने इसे चाटुकारिता बताया। कुछ नेटिजन्स ने टिप्पणी की कि श्रीनिवास राव के बार-बार अनुरोध करने और पैर छूने के बावजूद, खम्मम सीट का टिकट पक्का नहीं हुआ है।

पिछले साल जून में, सिद्दीपेट के तत्कालीन जिला कलेक्टर पी. वेंकटरमन रेड्डी ने कलेक्टर कार्यालय के नए भवन के उद्घाटन के दौरान मुख्यमंत्री के पैर छूकर विवाद खड़ा कर दिया था। जिसके 5 महीने बाद उन्होंने राजनीति में शामिल होने के लिए स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ली और केसीआर ने उन्हें तेलंगाना विधान परिषद का सदस्य बनाया।

--आईएएनएस

केसी/एएनएम

From around the web