Muslim Woman Warns Hindus In Brahmin meeting Viral Video Fact Check
Muslim Woman Warns Hindus In Brahmin meeting Viral Video Fact Check

सोशल मीडिया पर इन दिनों एक वीडियो काफी तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें एक महिला एक समुदाय विशेष के लिए भड़काऊ बयान देती नजर आ रही है। इस वीडियो के साथ ही ये दावा किया जा रहा है कि वीडियो में भड़काऊ भाषण देने वाली महिला मुस्लिम है।

दरअसल, इस वीडियो को Akhilendra Pratap Singh नाम के फेसबुक यूजर ने शेयर किया है और इसके साथ लिखा है – “ब्राह्मण सभा के कार्यक्रम में एक मुस्लिम महिला हिंदूओं के सावधान करती हुई।”

इस वीडियो को सच मानकर यूजर्स अलग-अलग प्लेटफॉर्म पर समान दावे के साथ इस वीडियो को शेयर कर रहे हैं।

हालांकि टूडे समाचार ने अपनी पड़ताल में पाया है कि सोशल मीडिया पर इस महिला के बारे में किया जा रहा ये दावा गलत है। दरअसल, वीडियो में दिख रही महिला का नाम अंजली आर्या है, जो हिंदू हैं। इस दौरान हमें ये भी पता चला कि ये वीडियो हाल का नहीं बल्कि पुराना है। दरअसल, ये वीडियो कोरोना के दूसरे या तीसरे फेज के दौरान हरियाणा के टिकरी ब्राह्मण गांव में एक कार्यक्रम के दौरान का है।

फैक्टचेक

टूडे समाचार ने जब इस वीडियो से जुड़े कुछ कीवर्ड्स की मदद से पड़ताल शुरू की तो हमें फेसबुक पर इसी वीडियो के साथ एक पोस्ट मिला, जिसके कैप्शन में लिखा था – “अंजली आर्या, वैदिक प्रवक्ता को अवश्य सुनिए।” इस वीडियो के कमेंट सेक्शन को जब हमारी टीम ने खंगाला तो वहां एक यूजर का कमेंट मिला, जिसने लिखा था, “ये अंजली आर्या हैं, आर्य समाज की प्रवक्ता हैं ये मूर्खो।”

ऐसे में अब जब हमें नाम का पता लग गया था, तो हमने उनके नाम से जुड़े कीवर्ड की मदद से अपनी जांच शुरू की। इस दौरान हमें दैनिक भास्कर की एक रिपोर्ट मिली, जिसमें दी गई तस्वीरों में महिला का चेहरा वायरल वीडियो की महिला से हूबहू मेल खा रहा था। इस रिपोर्ट में अंजली आर्या के गरोठ नगर में आर्य समाज श्री राम कथा के आयोजन का जिक्र किया गया था।

वहीं इसके बाद जब हमारी टीम ने अंजली आर्या के नाम से उनके ऑफिशियल यूट्यूब को खंगालना शुरू किया तो हमें इस दौरान अंजली आर्या के कई वीडियोज मिले। इस वीडियोज में भी महिला का चेहरा वायरल वीडियो में महिला के चेहरे से मेल खाता दिखा।

वहीं इसके बाद हम अपनी पड़ताल में आगे अंजली आर्या के ऑफिशियल यूट्यूब चैनल पर भी पहुंचे, जहां उनकी कई सारी वीडियोज मौजूद थीं। वहीं इस दौरान हमें वायरल वीडियो से मेल खाता एक शॉट्स भी मिला।

ऐसे में अब हमारी टीम ने यूट्यूब पर मिले नंबर को मुताबिक अंजली आर्या से संपर्क किया। इस दौरान अंजली ने टूडे समाचार से बातचीत के दौरान बताया कि, “मैं मुस्लिम नहीं, हिंदू हूं। मैं हरियाणा के करनाल नगरपालिका के घरौंडा की निवासी हूं। मैं सनातन धर्म से जुड़ी हूं। मेरे जीवन का उद्देश्य है सनातन धर्म का प्रचार-प्रसार करना। मुझे बचपन से ही ये संस्कार मिले हैं, मेरी रामकथाएं होती हैं।”

वहीं जब अंजली आर्या से टूडे समाचार ने वायरल वीडियो के संदर्भ में प्रश्न पूछा तो उन्होंने बताया कि, “हो सकता है यह किसी तरह का स्टंट हो। लगभग कोरोना के दूसरे या तीसरी लहर के समय हरियाणा के ‘टिकरी ब्राह्मण’ गांव में मेरा ये कार्यक्रम हुआ था। ये वीडियो वहीं का है।”

ऐसे में अंजली आर्या से बातचीत के बाद टूडे समाचार की ये पड़ताल समाप्त हुई और हमने पाया कि वायरल वीडियो में महिला के मुस्लिम होने का दावा गलत है। वीडियो में दिख रही महिला दरअसल, एक हिंदू हैं और आर्य समाज की प्रवक्ता अंजली आर्या हैं।

Verify information accuracy with fact-checking: scrutinize claims, cross-reference sources, and confirm data to ensure reliability and combat misinformation.