समुद्र के सहारे 4 घंटे की यात्रा करके पहुंचा गर्लफ्रेंड से मिलने, हुई जेल!

 

नई दिल्ली: कहते हैं प्यार और जंग में सब जायज है। लेकिन यह बात कई बार झूठ भी साबित हो जाती है। यकीन नहीं होता तो स्कॉटलैंड के इस शख्स की कहानी जान लीजिए। 28 साल के डेल मैक्लॉफलिन अपनी गर्लफ्रेंड से मिलने के लिए शुक्रवार को 40 किलोमीटर का सफर तय कर इथल ऑफ व्हिटोर्न से रैमसे पहुंचे। इस यात्रा में उन्हें साढ़े चार घंटे का समय लगा। लेकिन अफसोस प्रेमिका से मिलने पहुंचे इस शख्स को कोरोना महामारी के कानूनों ने जेल पहुंचा दिया।

रिपोर्ट के मुताबिक, डेल ने पहले कभी वॉटर स्कूटर नहीं चलाया था। लेकिन गर्लफ्रेंड से मिलने की खातिर उन्होंने जेट स्कीके सहारे आइरिश समुद्र पार किया। शख्स ने माना कि वो आईलैंड पर गैर-कानूनी तरीके से गया, जिसके बाद उसे चार हफ्तों के लिए जेल की सजा सुनाई गई। आईसलैंड के मौजूदा कानूनों के मुताबिक, सिर्फ स्पेशल परमिशन के सहारे ही नॉन-रेसीडेंट्स लोग आइल ऑफ मैन में दाखिल हो सकते हैं।

प्रासिक्यूटर ने कोर्ट को बताया कि डेल ने वाहन खरीदा और करीब 40 किलोमीटर के सफर पर निकल गए। उन्हें उम्मीद थी कि वह इस सफर को 40 मिनट में पूरा कर लेंगे। लेकिन दोपहर 1 बजे रैमेस पहुंचने के बाद उन्हें डगलस में स्थित अपनी प्रेमिका के घर तक पहुंचने के लिए 25 किलोमीटर का सफर पैदल तय करना पड़ा।

हालांकि, अपनी प्रेमिका के घर पहुंचने के बाद दोनों नाइटक्लब गए। जहां डेल ने अपनी पहचान को लेकर झूठ भी कहा। लेकिन गंभीर पूछताछ के बाद उन्होंने माना कि वो गैर-कानूनी तरीके से यहां पहुंचे हैं। रविवार को पुलिस ने डेल को गिरफ्तार किया। बता दें, इससे पहले डेल को सितंबर महीने में इस द्वीप छोटा-मोटा काम करने के लिए 4 हफ्ते रहने की इजाजत दी गई थी। तब 14 दिन आइसोलेट रहने के बाद वे एक दिन अपनी गर्लफ्रेंड से मिले थे।

डेल पर आरोप है कि उन्होंने जानबूझकर द्वीप के कानून को तोड़ने की कोशिश की और कोरोना महामारी के दौर में यहां रहने वाले के लिए खतरे को बढ़ाने का काम किया। जबकि इस पर डेल के वकील का कहना था कि वह डिप्रेशन से जूझ रहे थे और यही वजह है कि वो अपनी गर्लफ्रेंड से मिलना चाहते थे।

From around the web