ये है इमरान खान का नया पाकिस्तान,1 अंडा 30 रूपये में तो चीनी 100 के पार, जानें कीमत

 

रिपोर्ट: सौरभ सिंह 

नई दिल्ली: पाकिस्तान में बैठकर भारतीय राजनीति मैं अपना मशवरा देने वाले पाकिस्तान के मौजूदा प्रधानमंत्री इमरान खान और पाकिस्तान के हालत इन दिनों बद से बदतर होती जा रही है। गौरतलब है कि पाकिस्तान के मौजूदा प्रधानमंत्री इमरान खान नए जोश के साथ सत्ता में आए थे। इमरान खान ने सत्ता में आने से पहले नए पाकिस्तान का नारा दिया था। इमरान खान के सत्ता में काबिज होने से लग रहा था कि पाकिस्तान नई ऊंचाइयों और बुलंदियों को छुएगा, लेकिन इमरान खान के नए पाकिस्तान के वादे और दावे सब हवा-हवाई रह गए। दरअसल इमरान खान कि सत्ता में आने के बाद से ही पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था इतनी चरमरा गई है कि वहां एक अंडा 30 का मिलने लगा है।



अगर आप थोक में दर्जन के भाव से अंडे खरीदते हैं तो आपको 240 रुपये देने होंगे। आपको बता दें कि पाकिस्तान के ज्यादातर राज्यों में चिकन 300 रुपये किलो बिक रहा है। ऐसा नहीं है कि महंगाई की ये मार सिर्फ पोल्ट्री उत्पादों पर है। वहीं इस महंगाई का असर सिर्फ अंडे पर ही नहीं बल्कि अदरक, गेहूं और चीनी पर भी पड़ा है। 


 

पाकिस्तान में मौजूदा समय में 1 किलो अदरक (1000) हजार रुपए का मिल रहा है तो वहीं 1 किलो गेहूं का दाम 60 रुपया किलों पहुंच गया है। इतना ही नहीं चीनी 104 रुपया किलों बिक रही है। बता दें पाकिस्तान की करीब 25 फीसदी जनता गरीबी रेखा से नीचे जीवन गुजारती है। ठंड के मौसम में जैसे ही अंडों और अदरक की खपत बढ़ी इनकी कीमतों ने आसमान छू लिया। पाकिस्तान में गेहूं भी 60 रुपये किलो बिक रहा है जिसके बाद आटे की कीमतों में भी आग लगी हुई है। 
 

वाह रे इमरान खान और इमरान खान का नए पाकिस्तान का नारा जहां रोजमर्रा के जरूरी सामानों में इस कदर आग लगी है कि पाकिस्तान के लोगों को दो वक्त का खाना जुटाने में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है और कुछ पाकिस्तानी लोग तो ऐसे भी हैं जिनको दो वक्त का खाना नसीब भी नहीं हो रहा।सरकार की हालत ये हो गई है कि आटे और चीनी की कीमतों को नियंत्रित करने के लिए प्रधानमंत्री इमरान खान को लगातार कैबिनेट की मीटिंग बुलानी पड़ रही है। पाकिस्तान इन दिनों भीषण खाद्यान की कमी से जूझ रहा है। दूसरी तरफ घरेलू गैस संकट भी वहां विकराल रूप ले रहा है। पाकिस्तान में गैस की सप्लाई करने वाली कंपनी प्रतिदिन 500 मिलियन स्टैंडर्ड क्यूबिक फीट गैस की कमी से जूझ रही है। अगर जल्द ही इमरान सरकार ने गैस खरीदने का फैसला नहीं किया तो पाकिस्तान में लोगों के घर चूल्हे जलने भी बंद हो जाएंगे।

From around the web