रिपोर्टर ने पूछा चीन से ऐसा प्रश्न की लग गई मिर्ची, दे दिया ऐसा बयान

 

नई दिल्ली : भारत और चीन के बीच LAC पर बढ़ा तनाव अभी कम होने का नाम नहीं ले रहा है, हालांकि इस सीमा विवाद को लेकर लगातार बैठकें हो रही है, लेकिन अभी तक इसका कोई नतीजा नहीं निकला है। आपको बता दें कि चीन ने अपने एक बयान में भारत के केंद्रशासित प्रदेश लद्दाख को मान्यता नहीं देने की बात कहीं है।

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने कहा कि, "चीन भारत की ओर से अवैध तरीके से बनाए गए कथित केंद्रशासित प्रदेश लद्दाख को मान्यता नहीं देता है। चीन विवादित सीमाई इलाकों में सैन्य नियंत्रण के मकसद से बनाए जा रहे इन्फ्रास्ट्रक्चर का कड़ा विरोध करता है। आपको बता दें कि चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबीन ने भारत के साथ सीमा विवाद को लेकर पूछे गए एक सवाल के जवाब में ये बातें कहीं।

एक रिपोर्ट के मुताबिक, वेनबिन ने कहा कि चीन और भारत के बीच हाल ही में इस बात को लेकर सहमति बनी है कि कोई भी पक्ष सीमाई इलाकों में कोई भी ऐसा कदम नहीं उठाएगा जिससे हालात और गंभीर हों। इससे हालात सुधारने की दोनों पक्षों की कोशिशों को झटका नहीं लगेगा। गौरतलब है कि मोदी सरकार ने अगस्त 2019 में जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाया था, जिसे लेकर पाकिस्तान के साथ-साथ चीन ने भी आपत्ति जताई थी। इसके साथ ही चीन ने इस मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र में भी उठाया था।

आपको बता दें कि चीन का कश्मीर के एक बड़े हिस्से अक्साई चिन पर कब्जा है जो लद्दाख के ठीक पूर्व में स्थित है। जिसे लेकर चीन लगातार गैर गतिविधियां कर रहा है, और भारत, चीन के हर चालबाजियों का जवाब दे रहा है, जिससे चीन के हालत पस्त है।

From around the web