फ्रांस में पाकिस्तान का राजदूत नहीं, पास कर दिया वापस बुलाने का प्रस्ताव, जमकर हो रही किरकिरी

 

नई दिल्ली : फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के इस्लामिक आतंकवाद पर दिए गए बयान के बाद, पाकिस्तान ने तैश में आकर फ्रांस से अपने राजदूत को वापस बुलाने का प्रस्ताव संसद से पास किया और फ्रांस को करारा जवाब देना चाहा, लेकिन पाकिस्तान को खुद अपना दांव उल्टा पर गया। आपको बता दें कि पाकिस्तान को अपने इस प्रस्ताव के लिए दुनिया भर जमकर किरकिरी का सामना करना पड़ रहा है।

गौरतलब है कि पाकिस्तान ने अपने संसद से फ्रांस में नियुक्त अपने राजदूत को बुलाने का प्रस्ताव पास कराया, जिसे सभी ने एक साथ समर्थन किया। हालांकि जब इस प्रस्तावना की कॉपी फ्रांस पहुंची तो जो बातें सामने आईं वो काफी हास्यास्पद थी। दरअसल पाकिस्तान ने जिस राजदूत के लिए प्रस्ताव पेश किया था, ऐसा कोई राजदूत वहां उसका था ही नहीं।

आपको बता दें कि फ्रांस में तकरीबन पिछले 3 महीने से पाकिस्तान का कोई राजदूत नियुक्त था ही नहीं, जिसकी जानकारी पाकिस्तान के विदेश मंत्री को भी नहीं था। बता दें कि तीन महीने पहले फ्रांस में पाकिस्तान के राजदूत के तौर पर मोइन-उल-हक को तैनात किया गया था, जिनका तबादला चीन कर दिया गया था। उसके बाद से वहां कोई भी पाकिस्तानी राजदूत नियुक्त किया गया ही नहीं।  

From around the web