आखिरकार पाकिस्तान ने कबूला अपना गुनाह, पुलवामा हमले में पाक का हाथ

 

नई दिल्ली : 14 फरवरी, वो दिन जिस दिन आतंकियों ने एक IED भरी कार को सेना के काफिले से टकरा दिये, जिसमें हमारे देश के 40 जवान शहीद हो गये। हालांकि भारत सरकार ने इस मामले में पाकिस्तान को घेरना भी चाहा, लेकिन पाकिस्तान इसे नकारता रहा। लेकिन अब खुद पाकिस्तान ने इस बात को कबूल किया हैं कि पुलवामा हमले में पाक का हाथ था, जिसे पाक पीएम इमरान खान के निर्देश पर मुकम्मल किया गया।

आपको बता दें कि पाकिस्तान ने यह कबूलनामा खुद अपने संसद में किया है, जिसमें पाक मंत्री फवाद चौधरी पुलवामा हमला इमरान खान सरकार की बड़ी कामयाबी बता रहें है।

फवाद चौधरी ने कहा कि, ''जनाब महमूद कुरैशी साहब कि टांगे कांप रही थी, कह रहे थे कि हिन्दुस्तान हमला कर रहा है। हमने हिन्दुस्तान को घुसकर मारा है जनाब-ए-स्पीकर साहब। पुलवामा में जो हमारी कामयाबी है वो इमरान खान की कियादत में इस क़ौम की कामयाबी है। उसके हिस्सेदार आप भी सब लोग हैं।''

आपको बता दें कि फवाद चौधरी का यह बयान पाकिस्तान के एक वरिष्ठ विपक्षी नेता अयाज सादिक के बयान पर आया हैं। जिसमें उन्होंने कहा कि एक बैठक में विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा था कि यदि भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को नहीं छोड़ा जाता को भारत “रात नौ बजे” पाकिस्तान पर हमला कर देगा।

पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज (पीएमएल-एन) के नेता सादिक के मुताबिक जब कुरैशी यह कह रहे थे तब पाकिस्तानी सेना के प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा के पसीने छूट रहे थे और उनके “पैर कांप रहे थे।'' गौरतलब है कि 27 फरवरी को भारतीय वायु सेना के 37 वर्षीय अधिकारी अभिनंदन वर्धमान को पाकिस्तानी सेना ने बंदी बना लिया था जब पाकिस्तानी विमानों के साथ हुई हवाई जंग में वर्धमान के मिग-21 बाइसन विमान को मार गिराया गया था।

आपको बता दें कि भारतीय वायु सेना के विमानों ने 26 फरवरी 2019 को पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा क्षेत्र के बालाकोट में स्थित जैश ए मोहम्मद के आतंकी ठिकानों को नेस्तनाबूद कर दिया था। वर्धमान का विमान गिरने से पहले उन्होंने पाकिस्तान के एक एफ-16 विमान को मार गिराया था। इस दौरान वे एक हादसे का शिकार हो गये और पाक सैनिकों की गिरफ्त आ गये। हालांकि भारत सरकार के सख्त रवैये के बाद पाकिस्तान ने उन्हें एक मार्च को भारत को सौंपा था।

From around the web