राष्ट्रपति पद को लेकर न्यूक्लियर अटैक कर सकते है ट्रंप !, स्पीकर नैंसी ने जताई चिंता

 

नई दिल्ली : अमेरिकी संसद परिसर में राष्ट्रपति ट्रंप समर्थकों द्वारा हिंसा के बाद डेमोक्रेटिक पार्टी ट्रंप के खिलाफ काफी मुखर है। ट्रंप के इस रवैये को लेकर संसद की स्पीकर नैंसी पेलोसी ने डोनाल्ड ट्रंप को लेकर आशंका जताई है। उन्होंने आशंका जताते हुए ट्रंप द्वारा न्यूक्लियर अटैक की भी संभावना जताई है। इसके साथ ही नैंसी ने ट्रंप से तुरंत राष्ट्रपति पद छोड़ने की भी मांग की है।

नैंसी पेलोसी ने कहा कि उन्होंने इस संबंध में अमेरिकी सेना के ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ के चेयरमैन मार्क मिले से बात और उन्होंने उनसे 'सिरफिरे' ट्रंप को सैन्य एक्शन और न्यूक्लियर हमले के आदेश से दूर रखने को कहा है। पेलोसी ने इस संबंध में डेमोक्रेटिक सांसदों को लिखे पत्र में बताया कि उन्होंने जनरल मार्क मिले से राष्ट्रपति ट्रंप के न्यूक्लियर कोड को लेकर बात की है। न्यूक्लियर कोड की मदद से ही अमेरिका का राष्ट्रपति परमाणु हमला करने का आदेश देता है।

नैंसी ने ट्रप को ट्रंप को राष्ट्रपति पद से हटाने की अपनी मांग को दोहराते कहा कि इस तरह के अस्थिर दिमाग वाले राष्ट्रपति की स्थिति इससे और खतरनाक नहीं हो सकती है और हमें अपने देश और अपने लोकतंत्र पर किसी हमले से सुरक्षा को लेकर वो सब कुछ करना चाहिए जो हम कर सकते हैं। अमेरिकी संसद की स्पीकर ने यह भी कहा कि जितनी जल्दी हो सके वह डोनाल्ड ट्रंप को पद से हटाने की कार्यवाही शुरू होने की उम्मीद कर रही हैं।

नैंसी पेलोसी ने कहा कि अगर ट्रंप स्वेच्छा से नहीं हटते हैं तो संसद इस पर एक्शन लेगी। इस दौरान उन्होंने राष्ट्रपति निक्सन का उल्लेख करते हुए कहा कि कैसे 50 साल पहले राष्ट्रपति निक्सन को संसद ने इस्तीफा देने के लिए मजबूर किया था। डेमोक्रेट नेता ने कहा कि आज राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ठीक उसी तरह खतरनाक राजद्रोह का काम किया है। उन्होंने संसद में रिपब्लिकन सीनेट सदस्यों से उस उदाहरण का अनुसरण करते हुए ट्रंप को उनके दफ़्तर से फौरन जाने को कहने का आग्रह किया। अगर ट्रंप स्वेच्छा से राष्ट्रपति का पद नहीं छोड़ते हैं तो अमेरिकी संसद आगे की कार्रवाई करेगी।

एक समाचार एजेंसी के मुताबिक नैंसी पेलोसी राष्ट्रपति ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की कार्यवाही पर विचार करने के लिए शुक्रवार को हाउस के डेमोक्रेटिक सांसदों के साथ बैठक कर रही थीं, जिसमें उन्होंने ये बातें कहीं। मीटिंग के दौरान पेलोसी और डेमोक्रेटिक सीनेट के नेता चक शूमर ने उपराष्ट्रपति माइक पेंस और कैबिनेट से संविधान के 25वें संशोधन को लागू करने का आह्वान किया है ताकि ट्रंप को पद से हटने को मजबूर किया जा सके। आपको बता दें कि संविधान का 25वां संशोधन उप राष्ट्रपति और मंत्रिमंडल के बहुमत से राष्ट्रपति को पद से हटाने की इजाजत देता है।

गौरतलब है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का कार्यकाल 20 जनवरी को खत्म हो रहा है जबकि जो बाइडेन उसी दिन अमेरिका के राष्ट्रपति पद की शपथ लेंगे। वहीं ट्रंप पहले ही इस समारोह में शामिल ना होने की बात कह चुके है। अब देखना यह है कि इन 11 दिनों ट्रंप और कौन से हत्थकंडे अपनाते है, जिससे वो संसद को प्रभावित कर सकें।

From around the web