हवाला कारोबार मामले में रडार पर हैं 15 कंपनियां, अभी तक 2.58 करोड़ बरामद

नोएडा, 14 नवंबर (आईएएनएस)। नोएडा में पकड़े गए हवाला के करीब 2 करोड़ रुपए के मामले में कई अलग-अलग एजेंसियों ने अपनी जांच शुरू कर दी है। फिलहाल हवाला कारोबार में अभी 500 एजेंट सक्रिय हैं और रडार पर 15 कंपनियां हैं। दिल्ली, नोएडा और लखनऊ के 5 ठिकानों पर 48 घंटे तक लगातार आयकर विभाग की जांच चली है। आगे भी यह जांच ऐसे ही जारी रहेगी और फरार लोगों की तलाश की जा रही है।
 
हवाला कारोबार मामले में रडार पर हैं 15 कंपनियां, अभी तक 2.58 करोड़ बरामद
हवाला कारोबार मामले में रडार पर हैं 15 कंपनियां, अभी तक 2.58 करोड़ बरामद नोएडा, 14 नवंबर (आईएएनएस)। नोएडा में पकड़े गए हवाला के करीब 2 करोड़ रुपए के मामले में कई अलग-अलग एजेंसियों ने अपनी जांच शुरू कर दी है। फिलहाल हवाला कारोबार में अभी 500 एजेंट सक्रिय हैं और रडार पर 15 कंपनियां हैं। दिल्ली, नोएडा और लखनऊ के 5 ठिकानों पर 48 घंटे तक लगातार आयकर विभाग की जांच चली है। आगे भी यह जांच ऐसे ही जारी रहेगी और फरार लोगों की तलाश की जा रही है।

इस मामले को लेकर दिल्ली, नोएडा और लखनऊ के 5 ठिकानों पर दबिश में आयकर विभाग को हवाला कारोबार के बड़े नेटवर्क की जानकारी मिली है। बेंगलुरु मुंबई और हैदराबाद सहित देश के अलग-अलग राज्यों से 500 से ज्यादा एजेंटों के सक्रिय होने की आशंका जताई जा रही है। फिलहाल पुलिस की गिरफ्त में अभी 8 एजेंट हैं। इस मामले में लखनऊ से गिरफ्तार किए गए आदर्श श्रीवास्तव से पूछताछ के दौरान करीब अब तक 200 करोड़ रुपए की धांधली के सबूत जुटाए गए हैं।

आयकर विभाग ने 30 अधिकारियों की स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम गठित कर दिल्ली के दो, नोएडा के दो और लखनऊ के एक ठिकाने पर शुक्रवार को दबिश दी थी, करीब 48 घंटे से ज्यादा चली जांच में नगद मिलने वाली रकम को आरटीजीएस के जरिए डेढ़ गुणा करने की स्कीम चलाकर हेरा फेरी को अंजाम देने वाले बड़े नेटवर्क का पता चला है। काले धन को सफेद धन में तब्दील करने के मामले में 15 से अधिक कॉपोर्रेट कंपनियों और ट्रस्टों की जानकारी जुटाई गई है। इनके 10 से अधिक बैंक खातों की जांच की जा रही है।

--आईएएनएस

पीकेटी/एसकेपी

From around the web