आद्र्रभूमि संधि हस्ताक्षरकर्ताओं का 14वां सम्मेलन संपन्न

बीजिंग, 14 नवंबर (आईएएनएस)। आद्र्रभूमि संधि हस्ताक्षरकर्ताओं का 14वां सम्मेलन(सीओपी14) 13 नवंबर को संपन्न हुआ, जिसमें वुहान घोषणा-पत्र और 2025-2030 वैश्विक आद्र्रभूमि संरक्षण सामरिक ढांचा पारित होने सहित कई महत्वपूर्ण परिणाम प्राप्त हुए।
 
आद्र्रभूमि संधि हस्ताक्षरकर्ताओं का 14वां सम्मेलन संपन्न
आद्र्रभूमि संधि हस्ताक्षरकर्ताओं का 14वां सम्मेलन संपन्न बीजिंग, 14 नवंबर (आईएएनएस)। आद्र्रभूमि संधि हस्ताक्षरकर्ताओं का 14वां सम्मेलन(सीओपी14) 13 नवंबर को संपन्न हुआ, जिसमें वुहान घोषणा-पत्र और 2025-2030 वैश्विक आद्र्रभूमि संरक्षण सामरिक ढांचा पारित होने सहित कई महत्वपूर्ण परिणाम प्राप्त हुए।

2025-2030 वैश्विक आद्र्रभूमि संरक्षण सामरिक ढांचा में सतत विकास को बढ़ावा देने, वैश्विक पर्यावरणीय चुनौतियों का समाधान करने, आद्र्रभूमि संरक्षण और बहाली कार्यों में तेजी लाने, और आद्र्रभूमि क्षरण को रोकने में आद्र्रभूमि संरक्षण और बहाली की भूमिका पर ध्यान दिया गया। इसके साथ ही क्षमता का निर्माण, तकनीकी और वैज्ञानिक सहयोग व आदान-प्रदान आदि क्षेत्रों में अंतरराष्ट्रीय सहयोग को मजबूत करने पर जोर दिया गया।

सम्मेलन के दौरान कुल 21 प्रस्ताव पारित किए गए, जिन में से चीन द्वारा प्रस्तावित तीन प्रस्ताव, अर्थात् अंतर्राष्ट्रीय मैंग्रोव केंद्र की स्थापना, राष्ट्रीय सतत विकास रणनीति में आद्र्रभूमि संरक्षण और बहाली शामिल करना, और छोटे और सूक्ष्म आद्र्रभूमि के संरक्षण और प्रबंधन की मजबूती पारित किए गए। इससे वैश्विक आद्र्रभूमि संरक्षण कार्यों के उच्च गुणवत्ता विकास को बढ़ावा दिया जाएगा।

सम्मेलन के दौरान चीन ने सक्रिय रूप से अध्यक्ष देश की जिम्मेदारी पूरी की, और व्यापक रूप से बैठकों की अध्यक्षता करने, विभिन्न पक्षों के रूखों का समन्वय करने और अस्थायी वार्ता समूहों को स्थापित करने आदि अध्यक्षीय कार्य का अच्छे ढंग से किए। इसके साथ ही चीन ने सम्मेलन के विषयों पर सक्रिय रूप से चर्चा का नेतृत्व किया, सम्मेलन में फलदायी परिणाम प्राप्त करने के लिए बढ़ावा दिया, जिनसे सम्मेलन के ढांचे के तहत चीन के अंतर्राष्ट्रीय प्रभाव और शक्ति का प्रदर्शन किया गया।

सम्मेलन ने पुष्टि की कि जिम्बाब्वे आद्र्रभूमि संधि के हस्ताक्षरकतार्ओं के 15वें सम्मेलन की मेजबानी करेगा। सम्मेलन की समाप्ति पर आद्र्रभूमि संधि की 61वीं स्थाई समिति की बैठक आयोजित हुई, चीन स्थाई समिति का अध्यक्ष चुना गया और वह भावी तीन सालों में इस संधि की प्रक्रिया का पूरी तरह से नेतृत्व करेगा।

(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

--आईएएनएस

एएनएम

From around the web