भारतीय मार्केट में इलेक्ट्रिक स्कूटरों की जबरदस्त डिमांड है। ऐसे में कई कंपनियां ज्यादा सेल्स उठाने के इरादे से भारतीय मार्केट में अपने इलेक्ट्रिक वाहनों के समय-समय पर पेश करते रहते हैं। ऐसी ही एक कंपनी है Herald, जिन्होंने हाल ही में अपनी दमदार इलेक्ट्रिक स्कूटर Herald Royal को भारतीय मार्केट में लॉन्च किया है।

इस स्कूटर में लुक से लेकर फीचर्स तक सब कुछ आधुनिक और काफी आकर्षक है, जिसे लोग काफी पसंद भी कर रहे हैं। हालांकि अभी भी कुछ लोग बजट प्रॉब्लम के कारण इस दमदार स्कूटर को खरीद नहीं पाते हैं। ऐसे में ग्राहकों की इस समस्या के ध्यान में रखते हुए कंपनी ने इस स्कूटर पर फाइनेंस की सुविधा शुरू कर दी है, जिसके तहत आप महज 12 हजार रुपए में इस दमदार इलेक्ट्रिक स्कूटर को अपना बना सकते हैं।

Herald Royal Electric Scooter की कीमत

Herald Royal Electric Scooter की कीमत की बात करें तो ये धांसू स्कूटर आपको 1,11,205 रुपए के (एक्स शोरुम) कीमत पर मार्केट में पेश किया गया है। वहीं ऑन रोड आते-आते इसकी कीमत 1,16,463 रुपए तक पहुंच जाती है।

इसी कारण से ये स्कूटर ऑन रोड आते-आते कई लोगों के बजट से बाहर चली जाती है। तो ग्राहकों की इसी समस्या का समाधान निकालते हुए कंपनी ने अपनी इस स्कूटर पर फाइनेंस की सुविधा शुरू कर दी है।

महज 12 हजार रुपए में घर लें जाएं Herald Royal Electric Scooter

आपको बता दें कि कंपनी द्वारा Herald Royal Electric Scooter पर फाइनेंस की सुविधा लागू की गई है, जिसके तहत आप आसान कीमत पर इस स्कूटर को घर लें जा सकते हैं। इनमें से भी सबसे किफायती फाइनेंस प्लान की बात करें तो आप महज 12 हजार रुपए की डाउनपेमेंट के साथ इस स्कूटर को अपने घर ले जा सकते हैं।

वहीं इस स्कूटर पर आपको बाकी बची राशी यानी 1,04,463 रुपए का लोन 9.7 प्रतिशत ब्याज दर से बैंक द्वारा प्रदान किया जाएगा। इसके बाद आप 36 महीने तक प्रतिमाह 3,356 रुपए का EMI भरकर इस स्कूटर की बची हुई कुल राशि का भुगतान कर सकते हैं।

Herald Royal Electric Scooter की बैटरी और रेंज

बता दें कि Herald Royal Electric Scooter में आपको पावरफुल लिथियम आयन बैटरी का इस्तेमाल किया गया है, जो 3000 Watt के मोटर के साथ आता है। इसके अलावा इस स्कूटर में आपको 137KM तक का धांसू रेंज देखने को मिल जाता है।

Verify information accuracy with fact-checking: scrutinize claims, cross-reference sources, and confirm data to ensure reliability and combat misinformation.