लाखों-करोड़ों कमाने वाले बालिकावधु के डायरेक्टर बेच रहे हैं सब्जी, जानिए कैसे हुई ऐसी स्थिति

 

नई दिल्ली : फिल्मी जगत के रंगीन पर्दों की वास्तविकता से आप सभी परिचित तो होंगे ही, जहां हाथी के दांत दिखाने के कुछ और होते है और खाने के कुछ और। ऐसा ही कुछ दृश्य कोरोना काल के दौरान भी देखने को मिला। यानी की जब कोरोना महामारी पूरी दुनिया और भारत को अपनी जकड़ में जकड़ रहा था, उस समय भारत की आर्थिक राजधानी कही जाने वाली मुंबई की हालत बद से बदतर थी। मुंबई के इसी हालात के शिकार हुए, बालिकावधु के डायरेक्टर रामवृक्ष गौड़, जिनकी सिरियल बालिकावधु आज भी धमाल मचाये हुए है।

गौरतलब है कि कोरोना के इसी संकट काल में रामवृक्ष गौड़ अर्श से फर्श पर आ गये हैं और अब उन्हें लक्जरियस लाइफ छोड़कर एक साधारण जीवन जीना पड़ रहा है । इसके साथ ही उन्हें अपना और अपने घर परिवार के पालन पोषण के लिए ठेला चला कर सब्जी बेचने पड़ रहे है।  आपको बता दें कि इन दिनों गौड़ उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ में अपने घर पर हैं।

डायरेक्टर रामवृक्ष का कहना है कि रियल लाइफ और रील लाइफ दोनों चलती हैं। लॉकडाउन में अपने बच्चे की परीक्षा दिलाने के नाम पर आए रामवृक्ष अब मुंबई का रुख नहीं कर पा रहे हैं। परिवार की जिम्मेदारियों ने इस कदर जकड़ लिया और मुंबई में फिल्मी काम बंद होने से मजबूर होकर सब्जी बेचकर पेट पालन करना पड़ रहा है।

डायरेक्टर की पत्नी अनिता गौड़ का कहना है की परिस्थितियां खराब हैं तो कोई गम नहीं, आज नहीं तो कल हालात सुधरेंगे। वहीं उनकी बेटी नेहा भी यह कहती हैं कि जब स्थिति सही हो जाएगी तो हम फिर मुंबई में अपने दोस्तों के साथ अपने स्कूल में पढ़ाई को कर सकेंगे। आपको बता दें कि ऐसी भी स्थिति में रामवृक्ष गौड़ और उनके परिवार वालों को यह आस है कि जब सारी स्थितियां सामान्य हो जाएंगी तो हम भी अपने सामान्य जीवन में लौट जाएंगे।

आपको बता दें कि रामवृक्ष गौड़ 25 से अधिक टीवी सीरियल और फिल्मों में डायरेक्शन कर चुके है। जिसमें प्रमुख सीरियल बालिका वधू, ज्योति, कुछ तो लोग कहेंगे, सुजाता जैसे सुपरहिट सीरियल है।

From around the web