गलत तरीके से गिरफ्तार की गई रिया चक्रवर्ती - सतीश मानशिंदे

 

रिपोर्ट- रितिका आर्या

ड्रग्स केस कनेक्शन में नारकोटिक्स ब्यूरो द्वारा गिरफ्तार की गई रिया को करीब एक महीने के बाद बेल मिली है। बॉम्बे हाईकोर्ट ने बुधवार को रिया समेत तीन लोगों को राहत देते हुए जमानत दे दी है। हालांकि रिया समेत तीन लोगों को मिली ये ज़मानत सशर्त दी गई है। इस दौरान के भाई शोविक और एक अन्य की जमानत याचिका को खारिज कर दिया गया है।

गलत तरीके से गिरफ्तार की गई रिया- मानशिंदे

 रिया चक्रवर्ती के वकील सतीश मानशिंदे की तरफ से अदालत में ये कहा गया की रिया पर NDPS के तहत लगाया गया 27A के एक्ट बिलकुल गलत है। गलत तरीके से रिया को गिरफ्तार किया गया साथ ही उन्हें जेल में रहना पड़ा। वहीं अदालत में चली इस लंबी बहस के बाद रिया को जमानत मिली। वकील सतीश मानशिंदे ने कहा कि हमारी तरफ से कोर्ट के सामने सबूत रखे गए और कुछ धाराओं की जानकारी दी गई जिसे कोर्ट ने सही पाया। कोर्ट ने पाया की जिस तरह से रिया को गिरफ्तार किया गया वो न सिर्फ गलत है बल्कि रिया के साथ तीन केंद्रीय एजेंसियों (CBI, ED, NCB) के द्वारा जो व्यवहार किया गया वह गलत रहा।

एनसीबी के अनुसार, रिया द्वारा उनका क्रेडिट कार्ड सैमुअल मिरांडा को दिया था, जिसके द्वारा दस हजार रुपये निकाल कर 5 ग्राम बड की खरीदारी की गई थी। वकील सतीश मानशिंदे का कहना है कि इससे साबित होता है कि रिया का इससे सीधे तौर को कोई ड्रग्स से कनैक्शन साबित नहीं होता।

क्या है एनडीपीएस एक्ट की धारा 27 (ए)?

आपको बता दें कि रिया चक्रवर्ती ने NCB से पूछताछ में शुरुआत में इस बात को कबूला था कि उन्होंने भी ड्रग्स का सेवन किया है। हालांकि, वो सुशांत के मिलने से पहले ये छोड़ चुकी थीं। जिसके बाद NCB ने उनपर 27ए के तहत केस दर्ज किया था। नारकोटिक ड्रग्स एंड साइकोट्रॉपिक सब्स्टंस एक्ट, 1985 (NDPS एक्ट) मादक दवाओं से संबंधित एक कठोर कानून है। इसकी धारा 27 के तहत, अगर कोई नारकोटिक ड्रग्स यानी नशीले पदार्थ का सेवन करता है, तो यह कृत्य भी दंडनीय अपराध है।

साथ ही इस धारा के क्लॉज (ए) में कहा गया है कि सरकार द्वारा सूचितबद्ध किए गए कोकीन, मॉर्फीन जैसे अन्य नारकोटिस ड्रग्स का सेवन करने का दोषी पाए जाने पर एक साल कारावास या 20 हजार रुपये का जुर्माना या फिर दोनों एक साथ सजा के तौर पर दिए जा सकते हैं।

सुशांत केस में इस धारा का इस्तेमाल काफी बार किया गया है, करीब दस लोगों को इसी धारा के तहत गिरफ्तार किया गया है। रिया के भाई शोविक पर भी ये धारा लगाई गई है। इस एक्ट की अलग-अलग क्लॉज़ में 6 महीने से लेकर 20 साल तक की सज़ा सुनाए जाने का प्रावधान है।

From around the web