दलित संगठनों ने सुपरहिट कन्नड़ फिल्म कांटारा में दलितों के चित्रण की निंदा की

बेंगलुरु, 14 नवंबर (आईएएनएस)। दलित संगठनों ने देशभर में रिलीज हुई कन्नड़ फिल्म कांटारा में दलितों के चित्रण की निंदा की है। समता सैनिक दल के प्रदेश सचिव लोलक्ष ने कहा है कि इस फिल्म में दलितों का अपमान किया गया है।
 
दलित संगठनों ने सुपरहिट कन्नड़ फिल्म कांटारा में दलितों के चित्रण की निंदा की
दलित संगठनों ने सुपरहिट कन्नड़ फिल्म कांटारा में दलितों के चित्रण की निंदा की बेंगलुरु, 14 नवंबर (आईएएनएस)। दलित संगठनों ने देशभर में रिलीज हुई कन्नड़ फिल्म कांटारा में दलितों के चित्रण की निंदा की है। समता सैनिक दल के प्रदेश सचिव लोलक्ष ने कहा है कि इस फिल्म में दलितों का अपमान किया गया है।

उन्होंने कहा, फिल्म में दैवाराधने दृश्यों को तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया है। दलित समुदाय की छवि खराब करने की कोशिश की गई है।

उन्होंने फिल्म के आखिरी 20 मिनट के क्लाइमेक्स पर भी आपत्ति जताई।

लोलक्ष ने कहा कि वे अपनी आपत्तियों को पहले फिल्म टीम के संज्ञान में लाएंगे। अगर उनकी आपत्तियों को गंभीरता से नहीं लिया गया तो वह फिल्म की टीम के खिलाफ कानूनी कार्रवाई शुरू करेंगे।

केजीएफ चैप्टर-2 के बाद कंटारा कन्नड़ फिल्म उद्योग की दूसरी अखिल भारतीय सुपरहिट है।

हालांकि यह फिल्म पहले भी विवादों में घिर गई थी, क्योंकि एक बैंड ने दावा किया था कि फिल्म में इस्तेमाल किए गए गीतों में से एक उसका है। कन्नड़ अभिनेता चेतन अहिंसा ने कहा था कि दैवराधने हिंदू धर्म का हिस्सा नहीं है, जैसा कि फिल्म में दिखाया गया है।

--आईएएनएस

एसजीके/एएनएम

From around the web