रेलवे की नई योजना, खत्म कर दिये जाएंगे मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों से...

 

नई दिल्ली : कोरोना काल के दौरान मद्धम पड़ी रेलवे को भारतीय रेलवे अपग्रेड करने का विचार कर रही है, जिसे लेकर स्वर्णिम चतुर्भुज योजना के तहत लंबी दूरी की मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों से स्लीपर कोच को पूरी तरह खत्म कर दिया जाएगा यानी इन ट्रेनों में सिर्फ AC बोगियां ही रहेंगी। वहीं ट्रेन की रफ्तार 130/160 किमी प्रति घंटा होंगी। आपको बता दें कि लंबी दूरी की मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों में फिलहाल 83 एसी कोच लगाने का प्रस्ताव है, जिसे बढ़ाकर 100 कर दिये जाएंगे। वहीं अगले साल कोच की संख्या 200 किए जाने का प्लान है।

हालांकि इसका यह मतलब कतई नहीं है कि अब नॉन एसी कोच नहीं होंगे। नॉन एसी कोच होंगी लेकिन उसकी रफ्तार 110 किलोमीटर प्रति घंटे होगी। आपको बता दें कि यह सारा काम चरणबद्ध तरीके से किया जाएगा, इसके बाद आगे की योजना बनाई जाएगी।

बता दें कि इससे पहले इंडियन रेलवे ने बुधवार को 39 नई पैसेंजर ट्रेनों को चलाने की मंजूरी दी है, जो स्पेशल ट्रेनों के रूप में चलाई जाएंगी। आपको बता दें कि रेलवे की तरफ से सभी 39 ट्रेनों की लिस्ट जारी कर दी गई है, लेकिन उन्हें कब से चलाया जाएगा, इसकी जानकारी नहीं दी गई है।

सेंट्रल रेलवे के अनुसार, 9 अक्टूबर से छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस और नागपुर, पुणे, सोलापुर और गोंदिया के बीच 10 स्पेशल पैसेंजर ट्रेनों को चलाया जाएगा, इनमें जनरल डिब्बे नहीं होंगे। जिसमें बिना कंफर्म टिकट के यात्रा की इजाजत नहीं होगी। 

साथ ही इन ट्रेनों में भी वर्तमान में चल रहीं अन्य ट्रेनों की भांति ही कोरोना वायरस से संबंधित सभी नियमों का पालन करना होगा। इसमें सोशल डिस्टेंसिंग, सैनिटाइजेशन, चेहरे पर मास्क आदि शामिल है।

From around the web