Breaking News
  • 1984 सिख दंगा मामला : कांग्रेसी नेता सज्जन कुमार दोषी करार
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भ्रष्टाचार मुक्त सरकार चल रही है: रक्षा मंत्री
  • राजस्थान : अशोक गहलोत मुख्यमंत्री और सचिन पायलट ने उप मुख्यमंत्री पद की शपथ ली
  • मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह भारत दौरे पर
  • चक्रवाती तूफान Pethai Cyclone आज आंध्र प्रदेश के तट से टकराएगा

‘साथ जी नहीं सकते तो क्या हुआ साथ मर तो सकते हैं’- भरी जवानी में लगाया मौत को गले...

बदायूं: “साथ जी नहीं सकते तो क्या हुआ साथ मर तो सकते हैं” वैसे तो यह डायलॉग आपने कई हिंदी फिल्मों में सुना होगा, लेकिन अब ऐसी ही एक सच्ची घटना उत्तर प्रदेश के बदायूं से सामने आई है, जिसमें अपने आशिक की मौत की खबर सुनते ही प्रेमिका ने भी मौत को गले लगा लिया।

file

दरअसल, यह पूरा मामला बदायूं जिले के बिल्सी क्षेत्र से है, जहां एक प्रेमी युगल ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। पुलिस के अनुसार यहां हैबतपुर गांव का रहने वाला 21 साल का संदीप कुमार अपने घर से कल शाम निकला था, लेकिन वह अगले दिन भी अपने घर नहीं लौटा।

ओवैसी ने ऐसा करना बंद नहीं किया तो हिन्दू महासभा मार डालेगी, जैसे गोडसे ने गांधी को...

जिसके बाद उसकी काफी खोजबीन की गई, लेकिन तब भी कही कुछ पता नहीं लग सकता। इस बीच मंगलवार सुबह गांव वालों ने देखा की उसका शव गांव के बाहर पेड़ से लटका है। जिसकी बाद इसकी सूचनी उसके परिजनों को दी गई। इस बीच प्रेमी की मौत की खबर 17 सला की प्रेमिका को भी मिल गई।

वाह रे पति परमेश्वर! पहली पत्नी को जनवरों के सथ सुलाता है और दूसरी के साथ...

प्रेमी की मौत की खबर सुनते ही प्रेमी ने भी अपने आपको फांसी के फंदे से टांग कर प्राण त्याग दिया। मामले में पुलिस ने फिलहाल शवों को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया है और इस बात की जांच कर रही है कि आखिर प्रेमी-प्रेमीका ने अपने लिए भरी जवानी में ही मौत क्यों चुना?

पत्नी के लिए दामाद से ससुर को दी दर्दनाक मौत, और खुद ही पहुंचा...

loading...