Breaking News
  • संसद के मॉनसून सत्र से पहले लोकसभाध्यक्ष ने बुलाई सर्वदलीय बैठक
  • गुजरात में बारिश से अबतक 28 की मौत, यूपी-एमपी में अलर्ट
  • मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी टीडीपी, विपक्षी दलों से मांगा समर्थन
  • भारत-इंग्लैंड के बीच तीसरा और निर्णायक वनडे मैच

पहले से पता था कि मुन्ना बजरंगी को मार दिया जाएगा, सवालों के घेरे में CM योगी!

लखनऊ: देश के सबसे बड़े प्रदेश की पुलिस और सरकार एक बार फिर से सवालों के घेरे में हैं। प्रदेश में अपराध अपने हर स्तर पार कर चुका है। राह चलते या घर में बैठा कोई भी शख्स कभी भी अपराधियों का निशाना बन सकता है, इतना अब उत्तर प्रदेश पुलिस की जेल में भी अपराधियों का बोलबाला दिख रहा है।

दरअसल, उत्तर प्रदेश में सोमवार को बागपत जिले की जेल में अंडरवर्ल्ड डॉन प्रेम प्रकाश सिंह उर्फ मुन्ना बजरंगी की गोली मारकर हत्या कर दी गई। वैसे तो मुन्ना बजरंगी भी अपराधी था, लेकिन जेल में हत्या के इस मामले ने जेल प्रशासन से लेकर लखनऊ तक अधिकारियों में हड़कंप मचा है। यहां सबसे बड़ी हैरानी की बात है कि पुलिस को इसकी जानकारी थी कि बजरंगी की हत्या कर दी जाएगी। उनके फर्जी एनकाउंटर की साजिस रची जा रही है।

निर्भया के दरिंदों पर SC का फैसला आज, देशभर की निगाहें कोर्ट पर

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अपने पति की हत्या की आशंका जताते हुए प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ से सुरक्षा की गुहार लगाई थी। जिसके बाद अब हत्या के बाद संबंधित पुलिस अधिकारियों के हाथ-पांव फूल रहे हैं। घटना के बाद वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंच रहे हैं, इस बीच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूरे मामले में जांच के आदेश दिए हैं।

योगी ने कहा कि, जेल में हत्या कैसे हो गई? इसकी जांच कराई जाएगी और दोषियों को बख्शा नही जाएगा। उन्होंने कहा कि पूरे मामले की रिपोर्ट तलब की गई है। खबरों के अनुसार, बजरंगी की हत्या के पीछे पश्चिमी उप्र और उत्तराखंड में सक्रिय सुनील राठी गैंग का हाथ माना जा रहा है। राठी यूपी के साथ-साथ उत्तराखंड में भी सक्रिय है और उसकी मां राजबाला छपरौली से बसपा की टिकट पर चुनाव भी लड़ चुकी है।

VIDEO: मोदी तुझसे बैर नहीं वसुंधरा तेरी खैर नहीं के फेर में बुरी फंसी कांग्रेस!

आपको बता दें कि पूर्व बसपा विधायक लोकेश दीक्षित और उनके भाई नारायण दीक्षित से 22 सितंबर 2017 को फोन पर रंगदारी मांगने और जान से मारने की धमकी देने के मामले में आरोपी बजरंगी के खिलाफ बागपत में मामला दर्ज किया गया था। मामले की जांच में लखनऊ के सुल्तान अली और झांसी जेल में बंद मुन्ना बजरंगी का नाम सामने आया था।

गौर हो कि माफिया बजरंगी को बागपत अदालत में पेश करने के लिए कड़ी सुरक्षा के बीच रविवार को लाया दया था, पुलिस उसे एंबुलेंस से लेकर आई थी। हालांकि पुलिस की कड़ी सुरक्षा के कारण रास्ते भर बजरंगी सुरक्षित रहा, लेकिन अब जेल में हत्या किए जाने के बाद पुलिस-प्रशासन पर कई तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं।

मुन्ना बजरंगी  की पत्नी का बयान!

loading...