Breaking News
  • चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने सुप्रीम कोर्ट में आज चार नए जजों को दिलाई शपथ
  • ह्यूस्टन में हाउडी मोदी कार्यक्रम की सफलता पर भड़का पाकिस्तान
  • आर्मी चीफ बिपिन रावत का बयान, पाकिस्तान ने बालाकोट में आतंकी कैंपों को फिर से सक्रिय कर दिया है
  • गृह मंत्री ने कहा कि कहा कि 2021 की जनगणना में मोबाइल एप का प्रयोग होगा

OMG! वोटिंग सुबह शुरू हुई लेकिन मतदान की स्याही रात में ही लगा दी गई

चंदौली: लोकसभा चुनाव के अंतिम व सातवें चरण में रविवार को 8 राज्यों की 59 सीटों के लिए वोटिंग कराई जा रही है। जिनमें से उत्तर प्रदेश की 80 में से बटी हुई 13 सीटों भी मतदाता मताधिकार का प्रयोग कर रहे हैं। इससे पहले उत्तर प्रदेश के चंदौली से एक हैरान कर देने वाली खबर आई है। आरोप है कि यहा के एक गांव में कुछ लोगों को पैसा देकर रात में ही मतदान की स्याही लगा दिया। मामले की सूचना पर यूपी 100 पुलिस भी पहुंची लेकिन तब तक स्याही लगाने वाले फरार हो चुके थे।

वहीं इस पूरे मामले की भगनक लगते ही ग्रामीण व आसपास के गांव के लोगों की भीड़ जमा हो गई और जमकर हंगामा किया। चंदौली के अलीनगर थाना क्षेत्र के ताराजीवनपुर गांव की हरिजन बस्ती में पैसा बांटने व आधा दर्जन लोगों के अंगूठों पर निशान लगाने को लेकर गठबंधन समर्थक आक्रोशित हो गए और कार्रवाई की मांग को लेकर अलीनगर थाने पर धरने पर बैठ गये।

आरोप है कि भारतीय जनता पार्टी समर्थक व पूर्व प्रधान ने अपने कुछ समर्थकों के साथ गांव में 500-500 रुपये देकर लोगों के अंगूठों पर निशान लगा रहे थे। ग्रामीणों की माने तो उंगली पर स्याही लगाने वाले कह रहे थे कि क्या आप लोग भाजपा को वोट देंगे? अब तो आप लोग वोट नहीं दे सकते। यह बात किसी को भी बताना मत। इस पूरे ममाले को लेकर एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि वोट देने बूथ तक नहीं जाने के लिए स्याही लगाई जा रही थी और पैसे भी बांटे जा रहे थे। पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।

मामले में कार्रवाई की मांग लोकर गठबंधन प्रत्याशी डॉ. संजय चौहान, सकलडीहा विधायक प्रभु नारायण सिंह यादव अपने दर्जनों समर्थकों के साथ अलीनगर थाने पर धरने पर बैठे हैं। हालांकि चंदौली सदर एसडीएम ने बताया कि मामले में प्रयाप्त कार्रवाई की जाएगी। वहीं वोटिंग से पहले स्याही लगाने के बाद संबंधित लोगों को इस बात की चिंता सता रही है कि अब वे मतदान नहीं कर सकेंगे। लेकिन एसडीएम की माने तो मतदान ईवीएम से होता है, सिर्फ उंगली या फिर अंगूठे पर स्याही लगने से मतदान नहीं हो जाता है। 

loading...