Breaking News
  • व्यापार विवाद- जब तक चीन रास्ता नहीं बदलता अमेरिका पीछे नहीं हटेगा: माइक पेंस
  • इब्राहिम मोहम्मद सोलिह ने शनिवार को मालदीव के सातवें राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली, मोदी भी हुए शामिल
  • ICCWT20 के ग्रुप-बी मुकाबले में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 48 रन से हराया
  • राफेल डील पर मुझसे 15 मिनट बहस करें पीएम मोदी: राहुल गांधी

मुन्ना के लाश ले निकली 80 एनकाउंटर करने वाले पुलिस अधिकारी की गोली!

लखनऊ: पिछले दिनों उत्तर प्रदेश के बागपत जेल में डॉन मुन्ना बजरंगी की हत्या गोली मारकर कर दी गई। मुन्ना की हत्या करने वाले गैंगेस्टर सुनील राठी ने अपना गुनाह कबूल करते हुए बताया कि मुन्ना ने उसपर पिस्टल तान रखा था, जिसे छीन कर उसे मार डाला। जेल में मुन्ना की हत्या के बाद उससे जुड़े कई नये पुराने मामले सामने आ रहे हैं। जिनमें से एक है कि पोस्टमार्टम के दौरान मुन्ना के शरीर के एक करीब 20 साल पुरानी गोली निकली है।

इससे पहले आपको बता दें कि बागपत जेल में राठी ने मुन्ना को 10 गोली मारे, क्योंकि राठी ने मुन्ना पर बेहद नजदीक से गोली चलाए थे, इसलिए सभी गोलियां मुन्ना को भेदती हुई निकल गई। वहीं मीडिया रिपोर्ट के हवाले से दावा किया जा रहा है कि पोस्टमार्टम के दौरान मुन्ना के शरीर से एक गोली निकली है जो करीब 20 साल पुरानी है, जिसे उस समय के एसटीएफ में सीओ रहे पांडेय ने मारे थे। जो हाल के दिनों में मेरठ में SSP हैं।

‘हिंदू पाकिस्तान’ पर कांग्रेस ने छोड़ा थरूर का हाथ लेकिन अंसारी ने दिया साथ!

बता दें कि इस दौरान साल 1998 में मुन्ना के साथ-साथ अन्य कई डॉन और अपराधियों के हैसले इस कदर बुलंद थे, कि वे AK47 जैसे आधुनिक हथियार से हत्याएं किया करते थे। इस दौरान मुन्ना का खौम न सिर्फ आम जनते बल्कि दिग्गज नेताओं की हवा भी टाइट कर देता था। इसी दौरान मुन्ना जैसे अपराधोयों के खात्में के लिए एसटीएफ का गठन किया गया। जिसमें राजेश पांडे सीओं की भुमिका निभा रहे थे।

इस बीच पुलिस को सूचना मिली की मुन्ना दिल्ली में है। सूचना के आधार पर पांडे अपनी टीम के साथ मुन्ना की तलाश पर दिल्ली रवाना हुए और यहां सीमापुरी बॉर्डर पर मुन्ना कार से जाता दिखा, जिसके बाद दोनों से काफी गोलीबारी हुई। इस दौरान राजेश पांडे और उनकी टीम ने मुन्ना और उसके एक साथी यतेंद्र को कई गोलिया दागे, वहीं मुन्ना ने भी अपनी गोली से कुछ पुलिस वाले को घायल कर दिया।

पंडितों ने दी मूंछ कटवाने की सलाह और बन गए हिमाचल के मुख्यमंत्री?

मुन्ना को कई गोलियां दाग कर घायल करने के बाद पुलिस उसे अस्पताल लेकर पहुंची जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया और मोर्चरी भेज दिया। लेकिन यहां पहुंचते हुए मुन्ना जीवत हो उठा, इस खबर ने पुलिस को हैरान कर दिया, हालांकि इसके बाद पुलिस उसे फिर से अस्पताल लेकर आई और इस तरह से मुन्ना मौत के मुंह से निकल गया।

ऐसा दावा किया जाता है कि इस दौरान पांडे द्वारा मारी गई एक गोली मुन्ना के शरीर से निकली है, जिसकी चर्चा काफी तेज हो रही है। आपको बता दें राजेश पांडे की पहचान भी एनकाउंटर स्पेशलिस्ट के तर्ज पर की जाती है, जिन्होंने करीब 80 एनकाउंटर किए हैं। पुलिस के कई अलग-अलग पदों पर अपनी सेवाएं देने वाले पांडे को उन की बहादुरी के लिए सर्वाधिक चार बार राष्ट्रपति से गैलेंट्री अवार्ड मिला है।

VIDEO: हिंदुओं का अपमान, हाथ जोड़कर मांफी मांगे राहुल गंधी

loading...