Breaking News
  • संसद के शीतकालीन सत्र से पहले सरकार ने आज बुलाई सर्वदलीय बैठक
  • हरियाणा: चौटाला परिवार में टूट, ओमप्रकाश चौटाला के पोते ने बनाई 'जननायक जनता पार्टी'
  • एडिलेड टेस्ट में भारत की ऐतिहासिक जीत, ऑस्ट्रेलिया को 31 रनों से हराया

विवेक तिवारी हत्याकांड, SIT जांच रिपोर्ट में हुआ ऐसा खुलासा!

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पिछले दिनों पुलिस की गोली से मारे गए ‘विवेक तिवारी हत्याकांड’ में एक और नया खुलासा हुआ है। इससे पहले बता दें कि मामले में आरोपी दोनों पुलिसकर्मियों को जेल भेज दिया गया था और ममाले की जंच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है। अब जो नाया खुलास हुआ है वो इसी एसआईटी की रिपोर्ट के हवाले है।

मामले की जंच कर रही एसआईटी की टेक्निकल सपोर्ट टीम के अनुसार, विवेक तिवारी की कार उस रात सिपाहियों की बाइक से नहीं टकराई थी। जाबकि आरोपी पुलिस वाले का आरोप है कि विवेक उसे अपनी कार से कुचलना चाहता था और उसने अपनी रक्षा के लिए गोली चलाई थी।

ऐसे में अब यहां बड़ा सवाल है कि अगर विवेक तिवारी ने पुलिस वालों की बाईक पर गाड़ी नही चढ़ाने की कोशिश की तब पुलिस वालों ने आखिर विवेक गोली क्यों मारी? हालांकि इस सावल के जवाब में अभी थोड़ वक्त और लगेगा, क्योंकि एसआईटी की जांच अभी खत्म नहीं हुई है।

आपको बता दे कि यह घटना देश के सबसे बड़े प्रदेश की राजधानी लखनऊ में 28 सितंबर की रात घटी थी, जब एप्पल कंपनी के एरिया सेल्स मैनेज विवेक तिवारी अपनी एक सहोयोगी के साथ लौट रहे थे। तभी गोमतिनगर विस्तार के पास उनका सामना पुलिस के दो जवानों से हुआ और इनके बीच किसी बात को लेकर कहा सुनी हुई और इसी दौरान पुलिस सरकारी पिस्टन से विवेक को शूट कर दिया।

गुजरात छोड़ रहे लोगों से कांग्रेसी नेता ने कहा- 'कहां जा रहे हैं, मत जाइए ऐसी सुरक्षा कही और नहीं'

इनसाइड स्टोरी: गुजरात में यूपी, बिहार वालों के साथ दिल दहला देने वाली घटना की सच्चाई!

उत्तर भारतीयों के पलायन पर पीएम मोदी ने लगाई गुजरात सरकार को कड़ी फटकार

loading...