Breaking News
  • टेररिस्तान, आतंक के लिए करता है अपनी सरजमीं का इस्तेमाल- भारत
  • पाकिस्तानी आतंकवाद पर भारत ने UNGA में दिया करारा जवाब कहा
  • पाकिस्तान ने पहली बार कुबूले घुसपैठियों के शव
  • पीएम नरेंद्र मोदी दो दिनों के वाराणसी दौरे पर
  • कोलकाता वनडे: भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 50 रनों से हराया, 2-0 से आगे

संजय दत्त ने पूरी की अपने मात-पिता की सबसे बड़ी इच्छा

वाराणसी: बॉलीवुड अभिनेता संजय दत्त ने अपने दिवंगत पिता और जाने माने अभिनेता सुनील दत्त की इच्छा पूरी करते हुए बुधवार को वाराणासी में उनका और अपनी दिवंगत मां नरगिस दत्त का श्राद्ध किया। इस दौरान संजय दत्त चार्टर्ड प्लेन से वाराणासी पहुंचे और रानी घाट पर अपने माता-पिता का 'पिंडदान' किया। आपको बता दें कि नवरात्रि से पहले 15 दिन की श्राद्ध की अवधि के दौरान ऐसा करना बेहद शुभ माना जाता है।

जानकारी के अनुसार इस दौरान संजय दत्त को आठ ब्राह्मणों ने पूजा-पाठ और पिंडदान करने में मदद की। बता दें कि संजय की आगामी फिल्म 'भूमि' की सह-कलाकार अदिति राव हैदरी भी उनके साथ मौजूद रहीं। इस दौरान संजय ने मीडिया से बात करते हुए कहा की जब उनके पिता अस्पताल में थे, तब उन्होंने ऐसी इच्छा व्यक्त की थी कि उनका श्राद्ध काशी में किया जाए।

बता दें कि वाराणासी को ऐतिहासिक रूप से काशी के नाम से ही जाना जाता है, अभिनेता ने आगे कहा कि यह हमारे परिवार के लिए काफी महत्वपूर्ण है। गौरतलब हो कि कांग्रेस पार्टी के सांसद रहे सुनील दत्त का निधन 25 मई, 2005 को मुंबई में हुआ था। उनकी एका एक मौत ने पूरे परिवार की परेशानी बढ़ा दी थी।

 

loading...