Breaking News
  • चार धाम यात्रा: छह महिने के बाद खुले केदारनाथ धाम के कपाट, कल खुलेंगे बद्रीनाथ के कपाट
  • वो (ममता) अब मेरे लिए पत्थरों और थप्पड़ों की बात करती हैं: मोदी
  • पश्चिम बंगाल के बांकुरा में पीएम मोदी की चुनावी रैली, ममता पर बोला हमला
  • लोकसभा चुनाव में 200 सीटों के अंदर सिमट जाएगी एनडीए: चंद्रबाबू नायडू
  • पश्चिम बंगाल में वोटिंग के दौरान हिंसा, दमदम में रो पड़े मतदान अधिकारी
  • गोडसे विवाद पर नीतीश, साध्वी प्रज्ञा का बयान बर्दाश्त से बाहर, पार्टी से निकाला जाए
  • लोकसभा चुनाव: सातवें व अंतिन चरण में 8 राज्यों की 59 सीटों पर वोटिंग

क्या करने पहुंचे थे और क्या कर बैठे कैबिनेट मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता!

लखनऊ: चुनावी मौसम में नेताओं की जुबान फिलसना कोई नई बात नहीं है। चुनावी सभाओं में विरोधियों पर हमला बोलते हुए नेता अक्सर जोश में होश खो बैठते हैं, जिसके लिए उन्हें भारी फजीहत भी उठानी पड़ती है। ऐसा ही कुछ वाक्या उत्तर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता के साथ हुआ।

दरअसल, इस दौरन मंत्री जी सोनभद्र में एक सभा को संबोधित कर रहे थे, तभी उनकी जुबानी फिलस गई। उन्होंने नामांकन सभा को सम्बोधित करते हुए अपना दल के प्रत्याशी और पूर्व सांसद पकौड़ी लाल कोल के नाम की जगह गठबन्धन के प्रत्याशी और पूर्व सांसद भाईलाल कोल का नाम ले लिया।

हालांकि कैबिनेट मंत्री ने इसके बाद माफी मांगकर सही नाम लेकर नामांकन सभा सम्बोधित किया लेकिन अब बात ये आती है कि जब अपनी पार्टी के प्रत्याशी का नाम ही सही से नहीं ले सकते तो उनका मार्गदर्शन और विकास किस तरह करेंगे। फिलहाल प्रत्याशी पकौड़ी लाल कप-प्लेट और कमल के गठबंधन को लेकर काफी उत्साहित हैं और देश के विकास के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।

केजरीवाल का समर्थन चाहिए तो पूरी करनी होगी ये बड़ी शर्त!

खुले में बैठकर शौच करना शख्स को पड़ गया भारी, हाथी ने दी ‘सजा’

 

loading...