Breaking News
  • दिल्लीः पूर्व भाजपा अध्यक्ष मांगेराम गर्ग का निधन
  • पूर्व मुख्यमंत्री और दिल्ली कांग्रेस की अध्यक्ष शीला दीक्षित का दिल्ली में अंतिम संस्कार
  • महेंद्र सिंह धोनी ने वापस लिया वेस्टइंडीज़ दौरे से नाम
  • भारतीय एथलीट हिमा दास ने 400 मीटर रेस में मारी बाजी, एक महीने में 5वां गोल्ड मेडल

बसपा की बैठक में मायावती का बड़ा ऐलान, भाई-भतीजे पर लिया ऐसा फैसला

लखनऊ: अक्सर परिवारवाद की राजनीति पर दूसरे दलों को कोसने वाली बसपा प्रमुख मायावती का संगठन भी वंशवाद की राह पर है। संगठन में ताजा फेरबदल में मायवती ने अपनों को अधिक तवज्जो दी  है। जिसके कारण वह विपक्ष के निशाने पर हैं। दरअसल, बसपा सुप्रीमो ने पार्टी में कुछ बदलाव किए हैं, जिनमें  वंशवाद की राजनीति को एक कदम आगे बढ़ाते हुए अपने भाई आनंद को बसपा का उपाध्यक्ष और भतीजे आकाश को पार्टी का नेशनल कोऑर्डिनेटर बनाया है।

आपको बता दें कि, बीएसपी कैडर में कोऑर्डिनेटर का पद सबसे बड़ा माना जाता है। ऐसे में मायावती ने इस फैसले से साफ कर दिया है कि पार्टी में उनके अपनों की दखल बढ़ने वाली है। इस फैसले के पीछ मुख्य वजह पार्टी की राष्ट्रीय स्तर पर विस्तार बताया जाता है। हालांकि ये और बात है कि हालिया लोकसभा चुनाव में मायवती की पार्टी का यूपी में भी सुपड़ा साफ हो गया। लेकिन इसके बाद मायावती कई मंच से पार्टी विस्तार की चर्चा कर चुकी हैं।

खबरों की माने तो पार्टी में भाई-भतीजे को अहम पद देना मायवती के उसी विस्तार की रणनीति है। गौरतलब हो कि बीते लोकसभा चुनावों से पहले मायावती के भतीजे आकाश का पार्टी या राजनीति में कहीं कोई नाम नहीं था, लेकिन चुनावी प्रचार-प्रसार के दौरान आकाश मायावती के साथ मंच साजा करने लगे थे। इसी दौरान से  ऐसे कयास लग रहे थे कि मायावती की पार्टी में पारिवारिक दखलनदाजी बढ़ने वाली है , जिसे अब मायावती ने साबित भी किया है।

loading...