Breaking News
  • राज्यसभा सांसद मदन लाल सैनी के निधन के बाद आज होने वाले BJP संसदीय दल की बैठक रद्द
  • ओडिशा विधानसभा में आज से शुरू होगा मानसून सत्र
  • WC 2019 : लॉर्ड्स के मैदान पर आज भिड़ेंगे इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया
  • राज्यसभा की दो सीटों पर अलग मतदान के विरोध में कांग्रेस की अपील पर SC में सुनवाई आज
  • 26 और 27 जून जम्मू-कश्मीर में रहेंगे शाह, करेंगे अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा की समीक्षा

मुसलमानों से की ऐसी अपील, ‘ये इलेक्शन तो मैं पार कर चुकी हूं अब आपको मेरी जरूरत पड़ेगी’

नई दिल्ली: सत्ता और सियासत की लड़ाई लड़ने वाले लगभग सभी राजनेता जाति-धर्म की राजनीति को तौबा करते रहे हैं, लेकिन जब बात हकीकत की आती है तब सभी राजनीतिक दलों का दामान दागदार दिखता है। जिसकी बानगी सियासी महासमर 2019 में भी दिख रहा है।

दरअसल, हाल ही में उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने भरी सभा में मुस्लिम मतदाताओं से अपने पक्ष में मतदान की अपील की, वहीं मौके की नजाकत को देखते हुए उत्तर प्रदेश के मौजूदा मुख्यमंत्री ने भी चौका मारते हुए मायावती की आलोचना की और खुद हिंदू वोटो के ध्रुवीकरण में जुट गए।

इसकी कड़ी में आगे बढ़ते हुए केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने भी मुस्लिम मतदाताओं से खुलेआम कह दिया कि वे आगामी लोकसभा चुनाव में उनके पक्ष में मतदान करें क्योंकि मुसलमानों को चुनाव के बाद उनकी जरूरत पड़ेगी। मेनका ने मुस्लिम बहुल क्षेत्र तूराबखानी में गुरूवार को आयोजित एक चुनावी सभा में कहा कि, मैं लोगों के प्यार और सहयोग से जीत रही हूं लेकिन अगर मेरी यह जीत मुसलमानों के बिना होगी तो मुझे बहुत अच्छा नहीं लगेगा।

उन्होंने कहा कि, मैं इतना बता देती हूं कि फिर दिल खट्टा हो जाता है। फिर जब मुसलमान आता है काम के लिए, फिर मै सोचती हूं कि नहीं रहने ही दो क्या फर्क पड़ता है। आखिर नौकरी भी तो एक सौदेबाजी ही होती है, बात सही है या नहीं? उन्होंने आगे कहा कि अगर आप पीलीभीत में पूछिए, पीलीभीत के एक भी बंदे को फोन कर पूछो कि मेनका गांधी कैसे थी वहां। अगर आपको लगे कि कहीं भी हमसे कोई गुस्ताखी हुई तो हमको वोट मत देना। अगर आपको लगे कि हम खुले हाथ और दिल के साथ आए हैं कि आपको कल मेरी जरूरत पड़ेगी। यह इलेक्शन तो मैं पार कर चुकी हूं अब आपको मेरी जरूरत पड़ेगी।

आपको बता दें कि मेनका गांधी पीलीभीत से मौजूदा सांसद हैं। लेकिन इस बार वह अपने बेटे की सीट सुल्तानपुर से चुनाव लड़ रही हैं जबकि उनके बेटे वरूण गांधी अपनी मां की सीट पीलीभीत से चुनाव लड़ रहे हैं।

loading...