Breaking News
  • मोदी की बंपर जीत पर राहुल गांधी ने दी शुभकामनाएं
  • अमेठी सीट से हारे राहुल गांधी, वायनाड से मिली जीत
  • प्रियंका गांधी के साथ कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में पहुंचे राहुल गांधी
  • राहुल गांधी के इस्तीफे पर सस्पेंस बरकरार
  • मां से आशीर्वाद लेने के लिए कल गुजरात जाएंगे मोदी
  • सूरत अग्निकांड में अब तक 21 की मौत, 3 के खिलाफ FIR दर्ज
  • चार धाम यात्रा: छह महिने के बाद खुले केदारनाथ धाम के कपाट, कल खुलेंगे बद्रीनाथ के कपाट
  • वो (ममता) अब मेरे लिए पत्थरों और थप्पड़ों की बात करती हैं: मोदी
  • पश्चिम बंगाल के बांकुरा में पीएम मोदी की चुनावी रैली, ममता पर बोला हमला
  • लोकसभा चुनाव 2019: NDA को प्रचंड बहुमत, 300 से अधिक सीटों पर बीजेपी की जीत
  • 24 मई: आज भंग हो सकती है 16वीं लोकसभा, पीएम मोदी की अध्यक्षता में केन्‍द्रीय मंत्रिमंडल की बैठक

इंजीनियर का दिल दहला देने वाला कारनामा, पत्नी और 3 बच्चों उतारा मौत के घाट

गाजियाबाद: राष्ट्रीय राजधानी से सटे उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में पत्नी और तीन बच्चों को मौत के घाट उतारने वाले आरोपी सुमित कुमार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी अपनी पत्नी और बच्चों की हत्या का वीडियो अपने साले को भेज कर खुद फरार हो गया था, जिसे पुलिस ने कर्नाटक के उडुपी से गिरफ्तार किया है।

दरअसल, ये पूरा मामला गाजियाबाद के इंदिरापुरम के ज्ञान खंड-4 का है। यहां रविवार को एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने अपनी पत्नी और तीन बच्चों की निर्मम हत्या कर दी। खबरों के अनुसार आरोपी ने पत्नी और बच्चों को पहले नींद की गोली दी और फिर चाकू से गला काट कर बारी-बारी से सब की हत्या कर दी।

आपको यह जानकार हैरानी होगी कि अपने परिवार को मौत के घाट उतारने के बाद आरोपी ने अपने साले व अन्य संबंधियों को व्हाट्सएप ग्रुप पर पोस्ट कर जानकारी दी कि उसने बीवी और बच्चों को मार दिया है और अब वह खुद को खत्म करने जा रहा है। साथ ही उसने शवों को वीडियो भी व्हाट्सएप पर डाल दिया। हालांकि उसने अपने आप को खत्म करने बजाय गायब कर लिया, वह लापता हो गया था।

निर्मम हत्या के मामले में आरोपी की तलाश में पुलिस ने यूपी समेत छह राज्यों में तलाश की जिसके बाद उसे कर्नाटक से गिरफ्तार किया गया है। बताया जाता है कि आरोपी कर्नाटक में जॉब करता था, लेकिन पिछले कुछ समय से वह बेरोजगार चल रहा था, जिसके कारण वह ज्यादातर समय गुस्से में रहता था।

loading...