Breaking News
  • 21 जून को देश समेत दुनिया के अन्य देशों में अनंतराष्ट्रीय योग दिवस
  • अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर देहरादून में पीएम मोदी ने करीब 55 हजार लोगों के साथ किया योग
  • अलग-अलग जगहों पर लगे योग शिविर में शामिल हुए नेता और मंत्री
  • कोटा में दो लाख लोगों को 90 मिनट योग सिखाकर बाबा रामदेव ने बनाया नया वर्ल्ड रिकॉर्ड

खुलाशा: CM योगी ने किया था ‘समाजवादी पार्टी’ का प्रचार, तभी मिली दोनों सीटों पर भारी जीत!

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कभी सोचा भी नहीं होगा कि वह जिस समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के गठजोड़ को सांप और छछूंदर का गठजोड़ बता रहे हैं। जनता जनार्दन उसी सांप छछूंदर के गठबन्धन को जनाधार दे देगी। जीत के बाद सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने इसी बात को लेकर योगी आदित्यनाथ पर बड़ा हमला किया है।    

बतादें कि गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा उपचुनाव में बीजेपी को पटखनी देने के बाद समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यदाव प्रेस को संबोधित कर रहे हैं। इस दौरान उन्होंने सीएम योगी आदित्यनाथ और गोरखपुर के पूर्व सांसद और सीएम योगी आदित्यनाथ पर बड़ा हमला बोलते हुए कहा कि’ सदन में कहा गया कि मैं हिंदू हूं ईद नहीं मनाता। हमने अपने आप को कभी बैकवर्ड नहीं समझा लेकिन हमें सांप-छछुंदर का गठबंधन बताया गया, ये नतीजे संदेश हैं ये सोशल जस्टिस की जीत है।

अखिलेश के हवाले योगी का किला- बड़ी जीत के बाद बोला बड़ा हमला, मैं हिंदू हूं ईद नहीं मनाता...

योगी आदित्यनाथ ने सपा बसपा के गठजोड़ पर विवादित बयान दिया था। लेकिन किसी को शायद ही पता हो कि अखिलेश और मायावती के गठजोड़ को सांप और छछूंदर का गठजोड़ बताना सीएम योगी आदित्यनाथ को महंगा पड़ जाएगा। जनता ने उसी सांप छछूंदर के गठजोड़ को अपना मत दे दिया और बीजेपी का गोरखपुर से भी सूपड़ा साफ़ हो गया। यह वही गोरखपुर है जहाँ से योगी आदित्यनाथ पांच बार सांसद चुने जा चुके हैं। साथ ही 1990 से इस सीट पर बीजेपी का कब्जा रहा है। गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीटों पर बसपा ने समाजवादी पार्टी के प्रत्याशियों को समर्थन दिया था। वैसे इन दोनों सीटों पर जीत का श्रेय खुद सीएम योगी आदित्यनाथ को भी दिया जाना चाहिए, उन्होंने खुलेआम विधानसभा से सपा बसपा के गठबंधन का प्रचार करते हुए विवादित बयान दिया था।

उपचुनाव: BJP की हार के लिए CM योगी नहीं ये है जिम्मेदार, मीडिया के सामने बोले UP अध्यक्ष...

जिसके बाद ही जनता ने भी स्वीकार किया कि सपा-बसपा का वाकई में गठबंधन हुआ है। वहीँ राज्य के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की रही लोकसभा सीट पर सपा के नागेन्द्र प्रताप सिंह पटेल ने 59 हजार वोटों से जीत हासिल की है। वहीँ राज्य की सबसे प्रतिष्ठित और बीजेपी-योगी का गढ़ मानी जाने वाली गोरखपुर लोकसभा सीट पर भी समाजवादी पार्टी ने इतिहास रचते हुए बड़ी जीत हासिल की है। यहाँ सपा के प्रवीन कुमार निषाद ने बीजेपी के उपेन्द्र दत्त शुक्ल को 21 हजार से भी ज्यादा वोटों से हरा दिया है। वहीँ दोनों सीटों पर सपा की बड़ी जीत के बाद सपा प्रमुख अखिलेश यादव इस वक्त प्रेस कर योगी-बीजेपी पर हमला किया है।

यह भी देखें- 

loading...